September 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

योगी के कार्यकाल में नोएडा में आया 20,560 करोड रुपए का निवेश, यहां देखिए सबसे बड़ी औद्योगिक इकाइयों के नाम

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद सबसे ज्यादा विकास नोएडा में देखने को मिला है। योगी सरकार के दौरान नोएडा विकास प्राधिकरण ने एक नया रिकॉर्ड बनाया है।

जो योगी सरकार और नोएडा प्राधिकरण की सबसे भी उपलब्धि है। योगी सरकार के दौरान नोएडा में 855 औद्योगिक इकाइयों ने 20,560 करोड रुपए का निवेश किया है।

नोएडा की सीईओ ऋतु महेश्वरी ने कहा, पिछले वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान एक बार फिर प्राधिकरण ने आपदा को अवसर में बदलने का प्रयास किया। जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आए। प्राधिकरण ने महामारी के दौरान 186 कंपनियों को जमीन का आवंटन किया है। चालू वित्त वर्ष में भी अथॉरिटी अब तक 21 औद्योगिक इकाइयों को शहर में जमीन दे चुकी है। कुल मिलाकर 1 अप्रैल 2017 से 16 जून 2021 तक अथॉरिटी ने 855 औद्योगिक इकाइयों को 24,93,448 वर्ग मीटर जमीन बेची है। जिसकी बदौलत प्राधिकरण को 20,560 रुपये का इन्वेस्टमेंट मिला है।

सैमसंग डिस्पले कंपनी ने 4826 करोड़ रुपए का नोएडा में निवेश किया है। पेटीएम कंपनी ने 4826 करोड़ रुपए का, टीसीएस ने 2300 करोड़ रुपए का, मदरसन ग्रुप ने 47 करोड़ रुपए का, केंट आरओ ने 146 करोड़ रुपए का, हल्दीराम स्नैक्स ने 370 करोड़ रुपए का, यू फ्लैक्स लिमिटेड ने 90 करोड़, आईकिओ सॉलूशन ने 80 करोड़ का निवेश नोएडा में किया है।

सुरभी टेलीलिंक ने 106 करोड़ रुपए का, सुरभी सैटकॉम ने 106 करोड़ रुपए का, एडवर्ब टेक्नोलॉजी ने 139 करोड़ रुपए का, नेप्च्यून सिस्टम ने 113 करोड़ का, अग्रवाल एसोशिएट ने 448.96 करोड़ रुपए का, अडाणी इंटरप्राइजेज ने 2500 करोड़, वेवटैक्स प्रोजेक्ट्स ने 70.43 करोड़, रोटोपम्पस लिमिटेड ने 50.6, डिक्सन टेक्नोलॉजिज ने 270 करोड़ रुपए का, वेस्टवे इलेक्ट्रॉनिक्स ने 77 करोड़, माइक्रोसॉफ्ट इंडिया ने 1000 करोड़ और इंगका सेंटर्स इंडिया ने 5500 करोड़ रुपए का निवेश किया है।

Translate »