September 28, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

यूपी के फ़िरोज़ाबाद में 5 साल की बच्ची का इलाज कराने के लिए भागते रहे परिजन, बेरहम व्यवस्था ने ली जान

उत्तरप्रदेश में तेज़ी से बच्चे डेंगू, मलेरिया और वायरल बुख़ार से ग्रस्त हो रहे हैं। फ़िरोज़ाबाद भी इससे अछूता नहीं है। इस शहर में बुख़ार से तड़पती एक 5 साल की बच्ची की समय पर इलाज न मिलने के कारण मौत हो गई।

 

Ndtv

 

बच्ची का परिवार सुबह बजे से उसे भर्ती कराने की गुहार लगाता रहा लेकिन इस जर्जर और बेरहम “व्यवस्था” के कारण उस मासूम ने दम तोड़ दिया। परिजनों को इलाज के लिए कभी ऊपर तो कभी नीचे भेजा जाता रहा, जिसके चलते अंततः 11:40 बच्ची अपने जीवन की ये लड़ाई हार गई। इसके बाद परिजन उनका शव लेकर एम्बुलेंस से चले गए।

केवल यही बच्ची नहीं बल्कि एक अन्य घटना में, एक और लड़की की अस्पताल के बाहर मौत हो गई।

बता दें तो उत्तप्रदेश के फ़िरोज़ाबाद ज़िले में वॉयरल और डेंगू का कहर तेज़ी से फैल रहा है और लोगों की जान भी जा रही है। समाचार एजेंसी एनडीटीवी के मुताबिक़ “फ़िरोज़ाबाद में बुख़ार के कारण मौतों का आंकड़ा 50 के पार पहुंच गया है। ज़िलाधिकारी नेचिकित्‍सा सुविधा मामले में लापरवाही बरतने पर तीन चिकित्सकों को निलंबित कर दिया है। इस माह के प्रारंभ में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) का 11 सदस्यीय दल भी बुख़ार के कारणों का पता लगाने के लिए फिरोजाबाद पहुंचा था। सदर विधायक मनीष असीजा का बुख़ार के कारण 60 से अधिक लोगों की मौत का दावा किया है।”

ग़ौरतलब है कि इसके अलावा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी फ़िरोज़ाबाद सहित यूपी के अन्य डेंगू और वायरल बुख़ार से प्रभावित ज़िलों पर चिंता जता चुकी थीं। 2 सितंबर को उन्होंने इस बाबत अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा था कि लोगों को हरसंभव स्वास्थ्य सुविधा मु्हैया कराई जाए और बीमारी के प्रसार को रोकने के लिए उचित कदम उठाये जाएं।

Translate »