November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

गुजरात के कच्छ ज़िले में मंदिर में दाखिल होने के कारण दलित परिवार पर हमला

गुजरात के कच्छ ज़िले के गांधीधाम कस्बे के पास एक गांव में एक मंदिर में दर्शन करने के लिए क़रीब 20 लोगों ने एक दलित परिवार के छह सदस्यों पर कथित रूप से हमला कर दिया।

 

 

शुक्रवार को पुलिस ने इस घटना की जानकारी दी। पुलिस उपाधीक्षक किशोरसिंह जाला ने बताया कि कथित घटना मंगलवार (26 अक्टूबर) को भचाऊ थाना क्षेत्र के नेर गांव में हुई, लेकिन इस बाबत अब तक किसी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है।

जाला ने कहा, “इस संबंध में दो प्राथमिकी दर्ज की गईं, एक गोविंद वाघेला द्वारा और दूसरी उनके पिता जगभाई द्वारा। दोनों ने दावा किया कि लगभग 20 लोगों ने उन पर हमला किया। हमने अपराधियों को पकड़ने के लिए आठ टीमों का गठन किया है।”

एक के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है। हत्या के प्रयास, डकैती, मारपीट और एससी / एसटी (अत्याचार निवारण) की संबंधित धाराओं के तहत एक के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है।

 

मंदिर में दलित के प्रेवेश से नाराज़

प्राथमिकी के अनुसार, आरोपी इस बात से नाराज़ थे कि गोविंद वाघेला और उनका परिवार 20 अक्टूबर को नेर गांव के राम मंदिर में पूजा करने के लिए गए थे, जब प्राण प्रतिष्ठा की रस्म चल रही थी।

शिक़ायत में कहा गया है कि 26 अक्टूबर को वाघेला अपनी दुकान पर थे, जब उन्हें पता चला कि कुछ लोगों ने उनके खेत में मवेशी भेजकर उनकी खड़ी फसल को नष्ट कर दिया है। पुलिस ने बताया कि जब शिकायतकर्ता और उसके चाचा गणेश वाघेला मौके पर पहुंचे तो आरोपियों ने उन पर पाइप, लाठियों और धारदार हथियारों से हमला कर दिया।

प्राथमिकी के अनुसार, आरोपी ने कथित तौर पर एक मोबाइल फ़ोन भी चुरा लिया और शिकायतकर्ता के रिक्शा को क्षतिग्रस्त कर दिया था। शिकायतकर्ता ने यह भी आरोप लगाया है कि आरोपी ने उसकी मां बड़ीबेन, पिता जगभाई और दो अन्य रिश्तेदारों पर हमला किया था, और 6 पीड़ितों का इलाज भुज के एक सामान्य अस्पताल में किया गया।

Translate »