May 14, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

ग्रेटर नोएडा वेस्ट का एक निवासी अपने गंभीर रूप से बीमार पिता को 4 अस्पतालों में लेकर भटकता रहा, नहीं मिला बेड और ऑक्सीजन, अब मौत से लड़ रहे हैं घर में

नोएडा में लगातार कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण जिले में ऑक्सीजन की कमी भी बढ़ती जा रही है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में रहने वाला एक व्यक्ति अपने गंभीर रूप से बीमार पिता को लेकर नोएडा के चार अस्पतालों में भटका, लेकिन अस्पताल में उनके पिता के लिए ना तो कोई बेड मिला और ना ही ऑक्सीजन मिली।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित सुपरटेक इकोविलेज सोसायटी में रहने वाले शुभम की तबियत ठीक नहीं है। शुभम का इलाज दिल्ली के एक अस्पताल में चल रहा है। शुभम के पिता अपूर्वा की उम्र 67 साल की है। मंगलवार को शुभम के पिता की अचानक तबीयत खराब हो गई। शुभम ने बताया कि, उनके पिता दिल के मरीज हैं। उनके पिता के दिल में स्टंट भी डाले हुए हैं। मंगलवार की सुबह को अचानक उनके पिता के दिल में तेज दर्द होने लगा। जिसके बाद वह काफी परेशान हो गए। शुभम के पिता का ऑक्सीजन लेवल काफी कम हो गया।

शुभम ने बताया कि उन्होंने नोएडा के सेक्टर 39 में स्थित कोविड-19 अस्पताल में अपने पिता को एडमिट करवाने की बात डॉक्टरों से की। जिसमें अस्पताल की तरफ से राजी हो गए। वह अपने पिता को गंभीर हालत में लेकर कोविड-19 अस्पताल गए। लेकिन जब वह अपने पिता को लेकर अस्पताल पहुंचे तो अस्पताल वालों ने एडमिट करवाने के लिए मना कर दिया। इस बात के बाद वह काफी परेशान हो गए। अस्पताल में तैनात लोगों का कहना था कि उनके अस्पताल में ना तो बेड है और ना ही ऑक्सीजन है।

इसके बाद शुभम खुद बीमार होने के बाद भी अपनी गंभीर रूप से बीमार पिता को एंबुलेंस में लेकर 4 अस्पतालों में उधर-उधर भटकते रहे। लेकिन उनको किसी भी अस्पताल में अपने पिता के इलाज के लिए बेड और ऑक्सीजन नहीं मिला। उनके पिता की स्थिति लगातार खराब होती गई। अब अंतिम में आकर उन्होंने अपने पिता को वापस घर में ही रख लिया है। जहां पर उनके पिता की स्थिति लगातार खराब हो रही है।

Translate »