November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

370 हटने के बाद धड़ाम हुई पत्थरबाज़ी की घटनाएं और पत्थरबाज़, समाजसेवी रंजन तोमर द्वारा लगाई गई आरटीआई से हुआ सनसनीखेज़ खुलासा

कश्मीर से धारा 370 के हटने के बाद क्या बदलाव आएंगे इसपर देश ही नहीं पूरी दुनिया की नज़रें नजरें थी लेकिन अब इसका जवाब मिल गया है।

दरअसल, समाजसेवी श्री रंजन तोमर ने एक आरटीआई के जरिए इसका जवाब मांगा।  आरटीआई द्वारा जवाब मिला कि कश्मीर में सरकार की परेशानी का सबब बनने वाली पत्थरबाज़ी घटनाओं पर इसका माकूल असर पड़ा है। देश विरोधी इन घटनाओं से न सिर्फ सुरक्षाबल चोटिल होते हैं। अपितु कई बार आतंकवादियों को बचाने के लिए भी इस तरह की घटनाएं सुनियोजित रूप से की जाती थी। इसके आलावा कानून व्यवस्था में भी समस्याएं आती हैं और देश की छवि ख़राब करने का मौका भी पडोसी देश को मिल जाता है।

आरटीआई के माध्यम से मिली जानकारी के अनुसार 2017 से लेकर आजतक सालाना पत्थरबाज़ी की घटनाओं की जानकारी मांगी। ग्रह मंत्रालय द्वारा प्रदान किये जवाब के अनुसार 2017 में 1261 पत्थर बाज़ी की घटनाएं हुईं। जबकि 2018 में 1767 तो 2019 में यह बढ़कर 2009 हो गई। यह तब था जब कश्मीर में ऑपरेशन आल आउट अपने चरम पर था और आतंकवादियों को लगातार मारा जा रहा था। इसी वर्ष अगस्त में संविधान की धारा 370 भी हटाई गई। इसके बाद अचानक पत्थरबाज़ी की घटनाएं कम होती गई। 2020 में यह मात्र 327 रह गई और 2021 में अबतक सिर्फ 130 ऐसी घटनाएं हो पायी हैं।

साफ़ है कि धारा 370 के हटने के बाद कश्मीर की सुरक्षा में मज़बूती आई है। सेना एवं देश के हाथ में कश्मीर का नियंत्रण आ गया है, जिसके परिणाम धीरे धीरे ही सही सामने आने लगे हैं।

Translate »