October 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

“दिल्ली बॉर्डर सील” अकाली दल का दावा, प्रदर्शन के पहले सीमा पर रोके जा रहे हैं किसान

तीन कृषि क़ानूनों को लागू करने के एक वर्ष पूरा होने पर उसके विरोध में शिरोमणि अकाली दल द्वारा ब्लैक फ्राइडे मार्च का ऐलान किया गया है। इस बाबत पार्टी का कहना है कि मार्च के पहले गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब को बंद किया जा रहा है और दिल्ली की सीमाओं को भी सील किया जा रहा है।

 

 

पार्टी ने इसे लेकर ट्वीट किया है, “विरोध प्रदर्शन के लिए आज आने वाले किसानों और अकाली कार्यकर्ताओं की संख्या को देखते हुए, पंजाबियों को रोकने के लिए रकाब गंज साहिब की घेराबंदी की जा रही है। यह काले तानाशाही समय की याद दिलाता है।” इसके साथ ही उन्होंने ये भी आरोप लगाया है कि पंजाब में पंजीकृत वाहनों को दिल्ली की सीमाओं पर रोका जा रहा है।

 

 

उन्होंने कहा, “दिल्ली के सभी बॉर्डर सील कर दिए गए हैं और पंजाब के वाहनों को रोका जा रहा है। जबकि अन्य सभी गुज़र रहे हैं। पंजाबियों को बताया जा रहा है कि उनका प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। हमारी शांतिपूर्ण आवाज़ों ने ताकतों को डरा दिया है।”

बता दें कि कृषि क़ानूनों के पारित होने के एक साल बाद शुक्रवार को सुबह 9:30 बजे गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब से संसद तक विरोध मार्च निकाला जाएगा। शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल और सांसद हरसिमरत कौर बादल इस प्रदर्शन का नेतृत्व करेंगे।

 

 

समाचार एजेंसी ANI से बातचीत करते हुए अकाली दल के महासचिव प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने आश्वस्त किया कि विरोध मार्च शांतिपूर्ण होगा। उन्होंने कहा, “मार्च शांतिपूर्ण होगा। हम तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए सरकार को ज्ञापन देंगे। यहां तक की यदि हमें विरोध की अनुमति नहीं मिली तो भी हम शांति प्रदर्शन करेंगे और अपना ज्ञापन देंगे।”

Translate »