October 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

यूएस के पूर्व अफ़सर ने किया दावा, एलियंस के कारण छिड़ सकता है तीसरा विश्व युद्ध

दशकों पुराने परमाणु मिसाइल स्थलों पर अज्ञात हवाई घुसपैठ के दावे के बीच अमेरिकी वायु सेना में वेपन कंट्रोलर के बतौर काम कर चुके रॉबर्ट सालास ने अब ये दावा किया है कि एलियंस के कारण तीसरा विश्वयुद्ध हो सकता है।

 

Alien
Reuters

 

अमेरीकी अधिकारी ने ये भी कहा उन्होंने एलियंस को परमाणु हथियार की प्रणाली से छेड़छाड़ करते भी देखा है।

ग़ौरतलब है कि उन्होंने दशकों पहले हुई अलौकिक घटनाओं की बाबत दावा किया है कि जल्द ही अमेरिकी वायु सेना के चार पूर्व प्रमुख इस मामले में दस्तावेज़ों के साथ खुलासा करेंगे।

उन्होंने कहा कि परमाणु हथियारों को बेवजह ही अक्षम कर दिया गया था और ऐसा करने वाले अज्ञात हैं, जिसका इशारा एलियंस की ओर है क्योंकि वहां एक यूएपी वस्तु चुपचाप मंडरा रही थी।

इस तरह की मुठभेड़ों में शामिल चार पूर्व अधिकारी नेशनल प्रेस क्लब में इन और अन्य घटनाओं पर चर्चा करेंगे और अमेरिकी कांग्रेस से जांच करने और सार्वजनिक सुनवाई करने का आग्रह करेंगे।

पूर्व वायु सेना अधिकारी, रॉबर्ट सालास, 24 मार्च, 1967 को माल्मस्ट्रॉम एयर फ़ोर्स बेस, मोंटाना को सौंपे गए एक भूमिगत लॉन्च नियंत्रण सुविधा के ऑन-ड्यूटी कमांडर थे।

उन्होंने सार्वजनिक रूप से पच्चीस वर्षों की अवधि में कहा है कि उनके सभी दस आईसीबीएम निष्क्रिय हो गए और आठ दिन पहले 16 मार्च, 1967 को, इसी तरह की घटना एक अन्य मिसाइल प्रक्षेपण नियंत्रण सुविधा में हुई थी।

राष्ट्रीय सुरक्षा के संभावित प्रभावों के साथ कई अन्य यूएफ़ओ से संबंधित घटनाओं को सार्वजनिक रूप से पूर्व सार्वजनिक अधिकारियों द्वारा स्वीकार किया गया है- जिनके प्रयासों के परिणामस्वरूप एक गुप्त पेंटागन यूएफ़ओ जांच समूह, उन्नत एयरोस्पेस थ्रेट आइडेंटिफ़िकेशन प्रोग्राम (एएटीआईपी) का बनाया गया। यह प्रेस कॉन्फ्रेंस ऐसी कई घटनाओं के गवाह और अन्य सबूत पेश करेगी।

27 सितंबर, 2010 को आयोजित पहला यूएफ़ओ और नुक्स प्रेस कॉन्फ्रेंस, जिसे रॉबर्ट सालास ने शोधकर्ता रॉबर्ट हेस्टिंग्स के साथ सह-प्रायोजित किया था, दुनियाभर में मीडिया द्वारा व्यापक रूप से कवर किया गया था।

Translate »