November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

ऐसा क्या कर रहा है बेलारूस कि अमेरिका समेत यूरोप के कई देशों की बढ़ गई है चिंता?

बेलारूस पर ये आरोप लग रहे हैं कि वो अपनी सीमा के ज़रिए प्रवासियों को पोलैंड और लिथुआनिया में घुसने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। इन आरोपों के बीच शुक्रवार को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने हालात पर चिंता जताई है।

 

Joe Biden/reuters

 

कैंप डेविड प्रेसिडेंशियल रिट्रीट जाने के लिए व्हाइट हाउस से
से निकलते हुए बाइडेन ने संवाददाताओं से कहा, “हमें लगता है कि यह एक बड़ी चिंता है।”
“हमने रूस को अपनी चिंता बताई है और बेलारूस को भी अपनी चिंता से अवगत कराया है।” उन्होंने आगे जोड़ा, “हमें लगता है कि यह एक समस्या है।”

बता दें कि यूरोपीय संघ ने बेलारूस पर युद्धग्रस्त क्षेत्रों से हज़ारों प्रवासियों को उड़ाकर और उन्हें अवैध रूप से यूरोपीय संघ की सीमा पार करने के लिए प्रोत्साहित करके ब्लॉक को अस्थिर कर एक “हाइब्रिड अटैक” करने का आरोप लगाया है।

प्रवासी, मुख्य रूप से इराक़ और अफ़ग़ानिस्तान से, बेलारूस और यूरोपीय संघ के राज्यों पोलैंड और लिथुआनिया के बीच सीमा पर ठंड में शरण ले रहे हैं। कड़ाके की ठंड के चलते कुछ प्रवासियों की पहले ही मौत हो चुकी है और बाकी की सुरक्षा को लेकर आशंका बनी हुई है।

बेलारूस पर बाइडन और हैरिस की चिंता

बाइडन की टिप्पणी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस द्वारा फ्रांस की यात्रा के दौरान इसी तरह की चिंता व्यक्त करने के कुछ घंटों बाद आई, जहां उन्होंने कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन के साथ इस मुद्दे पर चर्चा की है।

 

Alexander Lukashenko

 

कमला हैरिस ने कहा, “बेलारूस बेहद परेशान करने वाली गतिविधि में लगा हुआ है। यह कुछ ऐसा है जिस पर मैंने राष्ट्रपति मैक्रों के साथ चर्चा की, और दुनिया और उसके नेताओं की निगाहें इसपर बनीं हुई है कि कि वहां क्या हो रहा है।”

ग़ौरतलब है कि इन आरोपों के उलट बेलारूस ने इस संकट को भड़काने से इनकार किया है, लेकिन कहा है कि जब तक यूरोप प्रतिबंध नहीं हटाता, वह इस मामले को सुलझाने में मदद नहीं कर सकता।

दरअसल 2020 में बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको के ख़िलाफ़ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे जिसका जवाब उन्होंने हिंसक कार्यवाही से दिया था। इसी के उपाय के बतौर अमेरिका ने बेलारूस पर प्रतिबंध लगाए थे।

Translate »