October 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

अमेरिकी जनरल ने स्वीकारा 10 अफ़ग़ानी नागरिकों की जान उनकी “ग़लती” से गई!

एक शीर्ष जनरल ने स्वीकार किया कि संयुक्त राज्य अमेरिका ने “ग़लती” की थी जब उसने काबुल में संदिग्ध ISIS आतंकवादियों के ख़िलाफ़ एक ड्रोन हमला किया था, जिसमें पिछले महीने अफ़ग़ानिस्तान से अमेरिका की वापसी के दौरान 7 बच्चों सहित 10 नागरिकों की मौत हो गई थी।

 

AFP

 

समाचार एजेंसी एएफपी के हवाले से मैकेंजी ने कहा, “हमला एक दुखद ग़लती थी।” अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने एक बयान में मारे गए लोगों के परिजनों से माफी मांगी। उन्होंने कहा, “मैं मारे गए लोगों के परिवार के जीवित सदस्यों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। हम क्षमा चाहते हैं, और हम इस भयानक ग़लती से सीखने का प्रयास करेंगे।”

मैकेंजी ने कहा कि सरकार इस बात का अध्ययन कर रही है कि मारे गए लोगों के परिवारों को नुकसान का भुगतान कैसे किया जा सकता है।

जनरल ने कहा कि 29 अगस्त को अमेरिकी सेना ने सफ़ेद टोयोटा को काबुल में एक साइट पर देखने के बाद आठ घंटे तक ट्रैक किया था और ख़ुफ़िया स्थान के रूप में इसकी पहचान की थी। जिससे माना जा रहा था कि वे काबुल हवाईअड्डे पर हमले की तैयारी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ख़ुफ़िया रिपोर्टों ने अमेरिकी बलों को एक सफ़ेद टोयोटा कोरोला पर नज़र रखने के लिए प्रेरित किया था जिसका यह समूह कथित तौर पर इस्तेमाल कर रहा था।

उन्होंने कहा, “हमने अपनी जानकारी के मुताबिक़ उस क्षेत्र में इसकी आवाजाही के आधार पर इस कार का पीछा किया था। स्पष्ट रूप से, इस विशेष सफ़ेद टोयोटा पर हमारी ख़ुफ़िया जानकारी ग़लत थी।”

मैकेंजी के अनुसार, ड्रोन हमले में सात बच्चों सहित 10 लोग मारे गए, जिनमें से कोई भी ISIS से जुड़ा नहीं था। का अराजकता से भरे माहौल में मैकेंजी ने आत्मरक्षा के लिए इस अमेरिकी ऑपेरशन का बचाव किया।

बता दें कि 26 अगस्त को एक इस्लामिक स्टेट-खुरासान आत्मघाती हमलावर ने हवाई अड्डे पर 13 अमेरिकी सेवा सदस्यों सहित कई लोगों को मार डाला था।

देश से बाहर अंतिम निकासी उड़ानों में से एक के अंदर जाने और उसमें सवार होने के लिए भारी भीड़ उमड़ पड़ी। 60 से अधिक स्पष्ट खतरे वाले वैक्टर थे जिनसे हम इस समय निपट रहे थे,” मैकेंजी ने कहा।

अमेरिकी अधिकारियों का मानना ​​था कि कार विस्फोटकों से लदी हुई है। इसके बाद न्यूयॉर्क टाइम्स ने बताया कि यह कार पानी के कनस्तरों से भरी थी।
मैकेंजी ने ये भी कहा कि जिस समय स्ट्राइक को अंजाम किया गया, उस समय क्षेत्र में कोई भी नागरिक नहीं देखा गया था।

Translate »