Thursday, May 19, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

कोरोना के नए वेरिएंट के मद्देनज़र केजरीवाल ने किया केंद्र सरकार से आग्रह, कहा सभी प्रभावित देशों की उड़ाने हों रद्द

by Disha
0 comment

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उन देशों से भारत आने वाली उड़ानों को रोकने का आग्रह किया जो कोरोनोवायरस संक्रमण के एक नए वेरिएंट से प्रभावित हैं।

 

 

एक ट्वीट में उन्होंने इस बात पर ज़ोर देते हुए कहा, ‘मैं माननीय पीएम से उन देशों से उड़ानें बंद करने का आग्रह करता हूं जो नए संस्करण से वेरिएंट हैं। बड़ी मुश्किल से हमारा देश कोरोना से उबरा है। हम इस नए वेरिएंट को भारत में प्रवेश करने से रोकने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।’

आधिकारिक सूत्रों ने दिन में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी शनिवार को शीर्ष अधिकारियों के साथ देश में कोविड की स्थिति और टीकाकरण अभियान पर एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता करेंगे।

यह बैठक कोरोनवायरस के एक नए तनाव पर बढ़ती वैश्विक चिंताओं के बीच हुई है, जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ‘ओमाइक्रोन’ नाम दिया है और इस बात पर चिंता जताई है कि यह बेहद संक्रामक वेरिएंट है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में प्रशासित कोविड -19 वैक्सीन ख़ुराक़ की संख्या 120.96 करोड़ को पार कर गई है।

इसके अलावा केंद्र ने गुरुवार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को दक्षिण अफ्रीका, हांगकांग और बोत्सवाना से आने वाले या आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कठोर जांच और परीक्षण करने के लिए कहा था, जहाँ नया वेरिएंट पाया गया है।

दिल्ली की कितनी तैयारी?

इस बीच केजरीवाल ने शुक्रवार को बताया कि दिल्ली सरकार ने अफ्रीकी देशों से एक नए कोविड -19 वेरिएंट के ख़तरे के मद्देनज़र उठाए जाने वाले कदमों पर चर्चा करने के लिए सोमवार को दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक बुलाई है।

केजरीवाल ने शुक्रवार को ट्वीट किया, “अफ्रीकी देशों से एक नए कोविड -19 संस्करण से ख़तरे को देखते हुए, हमने विशेषज्ञों से सोमवार को डीडीएमए को एक प्रस्तुति देने और सुझाव देने का अनुरोध किया है कि हमें क्या क़दम उठाने चाहिए। हम आपकी और आपके परिवार की सुरक्षा के लिए सभी आवश्यक क़दम उठाएंगे।”

बता दें कि दक्षिण अफ्रीका में पाए गए नए कोविड वेरिएंट में बड़ी मात्रा में स्पाइक म्यूटेशन होने की आशंका थी, जिसकी शुरुआत में अनदेखी की गई। वहाँ के अधिकारियों के मुताबिक़ बीते गुरुवार को इस वेरिएंट की ज़द में आए 22 मामलों की पुष्टि की गई है।