कोरोना प्रतिबंधों को पूरी तरह ख़त्म करने वाला पहला राज्य बना असम

by Disha
0 comment

असम लोगों की आवाजाही, सभा और यात्रा पर लगाए गए सभी COVID से संबंधित प्रतिबंधों को हटाने वाला पहला भारतीय राज्य बन गया है।

 

 

राज्य में मंगलवार से महामारी से पहले का जीवन फिर से शुरू हो गया है, जिसमें सभी स्कूल खुलने के लिए तैयार हैं और शहर में रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डे आगमन पर अनिवार्य COVID-19 टेस्टिंग समाप्त हो रही है।

इतना ही नहीं, स्थिति में सुधार के बाद राज्य सरकार ने मंगलवार से सभी COVID-19 प्रतिबंधों को वापस लेने का आदेश दिया है, सिवाय इसके कि बिना टीकाकरण वाले लोगों को अस्पतालों को छोड़कर सार्वजनिक स्थानों पर प्रवेश करने से रोक दिया जाए।

सोमवार को जारी एक आदेश में, असम स्वास्थ्य और परिवार कल्याण प्रमुख सचिव अनुराग गोयल ने कहा कि राज्य और देश में COVID-19 पॉजिटिविटी रेट धीरे-धीरे कम हो रही है।

उन्होंने कहा, “हवाई अड्डों, रेलवे स्टेशनों, सड़क सीमा बिंदुओं आदि पर आगमन पर अनिवार्य परीक्षण बंद कर दिया जाएगा। हालांकि, किसी भी मान्यता प्राप्त परीक्षण सुविधा में, रोगसूचक रोगियों को स्वेच्छा से नैदानिक ​​उद्देश्यों के लिए COVID-19 के परीक्षण के लिए अनुरोध किया जा रहा है।”

इसी तरह अस्पतालों में इलाज के लिए आने वाले किसी भी मरीज़ की अनिवार्य जांच भी बंद कर दी जाएगी।

मुख्य सचिव जिष्णु बरुआ ने कहा कि महामारी की स्थिति में काफ़ी सुधार हुआ है और अधिकांश ज़िलों में पिछले 2 से 3 सप्ताह के दौरान हर दिन 10 से कम पॉजिटिव मामले सामने आ रहे हैं।

यही कारण है कि असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने 15 फरवरी की सुबह 6 बजे से सभी प्रतिबंधों को ख़त्म करने वाला एक नया आदेश जारी किया है।

उन्होंने कहा कि मास्क पहनना, सैनिटाइजर का उपयोग करना और सामाजिक दूरी बनाए रखना सख्ती से पालन किया जाना चाहिए।

About Post Author