May 13, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

महामारी के बीच एस्ट्राज़ेनेका वैक्सीन पर रोक, क्या होगा भविष्य?

बीता एक वर्ष विश्वभर के लिए जीवन संघर्ष का वर्ष रहा है। साल बीता लेकिन महामारी का दुष्प्रभाव अब भी हमें जकड़े हुए है, इसी बीच वैक्सीन का आना प्रत्येक देश के लिए राहत की ख़बर थी, लेकिन अब हालात फिर चिंताजनक हो रहे हैं।
सोमवार को EU के कई बड़े देशों ने ख़ून के थक्के जमने की आशंका के चलते एस्ट्राज़ेनेका वैक्सीन पर रोक लगा दी। हालाँकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस बात की पुष्टि की कि ये वैक्सीन सुरक्षित है।
हालांकि WHO की प्रमुख वैज्ञानी सौम्य स्वामीनाथन ने कहा कि ख़ून के थक्के जमने और वैक्सीन के बीच का संबंध स्थापित नहीं हुआ है, साथ ही उन्होंने ने यह भी कहा कि वे नहीं चाहतीं लोग घबराहट का शिकार हों इसलिए सभी देशों को इस वैक्सीन का इस्तेमाल जारी रखना चाहिए।
बता दें कि फ़्रांस, जर्मनी और इटली ने बीते दिन एस्ट्राज़ेनेका वैक्सीन के प्रयोग पर रोक लगा दी और माना जा रहा है कि इसी का अनुसरण कर लातविया, स्पेन, स्लोवानिया और पुर्तगाल जैसे देशों ने भी इस वैक्सीन से अपने हाँथ खींच लिए हैं।
न केवल WHO बल्कि ‘यूरोपियन मेडिसिन्स एजेंसी’ (EMA) ने भी एस्ट्राज़ेनेका की वैक्सीन को शक़ के घेरे में न लेने और सुचारू रूप से इसके इस्तेमाल की बात कही है।
इस संकट में वैक्सीन ही एक मात्र उपाय नज़र आ रही है, ऐसे में अब देखना ये होगा कि कोरोना के नए वेरिएंट से जूझती दुनिया इस वैक्सीन से दूरी बनाकर अपना संघर्ष कैसे जारी रखेगी।
Translate »