June 18, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

बाबा रामदेव का यूटर्न : लगवाएंगे वैक्सीन, डॉक्टर्स को बताया देवदूत

बाबा रामदेव एक फिर चर्चा में इस बार एलोपैथी और आयुर्वेदिक को लेकर नहीं बल्कि वैक्सीन को लेकर, उन्होंने कहा कि वह कोरोना की वैक्सीन लगवाएंगे।

बता दें बाबा रामदेव ने कहा था कि उन्हें कोरोना वैक्सीन की जरूरत इसलिए नहीं है कि क्योंकि उनके पास योग और आयुर्वेद का संरक्षण है लेकिन अपने पहले के बयानों से पलटते हुए स्वामी रामदेव ने कहा कि वे कोरोना की वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार हैं साथ ही उन्होंने उन्होंने डॉक्टरों को देवदूत बताया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 21 जून से सभी को मुफ्त कोरोना वैक्सीन को लेकर स्वामी रामदेव ने कहा कि यह एक स्वागत योग्य कदम है, सभी को कोरोना वैक्सीन लगवानी चाहिए और वो भी जल्द कोरोना वैक्सीन की पहली डोज़ लेंगे।

डॉक्टर्स को बताया देवदूत

बाबा रामदेव ने कहा, डॉक्टर्स पृथ्वी पर परमेश्वर के दूत हैं। अच्छे डॉक्टर वरदान हैं। उन्होंने कहा कि आपातकालीन उपचार और सर्जरी के लिए एलोपैथी सबसे अच्छी हैं। वह किसी संगठन के खिलाफ नहीं हैं।

देशद्रोह का मुकदमे की मांग

वायरल वीडियो में बाबा रामदेव की तरफ से कहा गया था- तीसरा बोला मुझे डॉक्टर बनना है। टर टर टर टर टर टर बनना है। डॉक्टर एक हजार डॉक्टर तो अभी कोरोना की डबल वैक्सीन लगाने के बाद मर गए कितने, एक हजार डॉक्टर, कल का समाचार है। अपने आप को नहीं बचा पाए वो कैसी डॉक्टरी।

इसी विवादित बयान के चलते IMA और बाबा रामदेव के बीच मतभेद बढ़ गए थे। जो विवाद एक वाट्स ऐप मैसेज के पढ़ने से शुरू हुआ था वो अब देशद्रोह तक पहुँच गया था।
बता दें तमाम डॉक्टर इस समय बाबा रामदेव से ना सिर्फ नाराज थे, बल्कि उनके बयान को मनोलब गिराने वाला बता रहे थे कुछ दिन पहले तक ऐलोपैथी का मजाक बनाने वाले योग गुरू रामदेव की तरफ से अभ्यास सत्र के दौरान कोरोना वैक्सीन को लेकर भी विवादित बयान दे दिया गया।
नाराज़ IMA के डॉक्टर्स ने बाबा रामदेव पर 1000 करोड़ का मानहानि का केस किया था

बाबा रामदेव ने अपना बयान वापस लिया था

बाबा रामदेव ने व्हाट्सएप पर एक मैसेज को सुनाते हुए एलोपैथी को स्टुपिड और दिवालिया साइंस बताया था उसके बाद उन्होंने अपने उस बयान को वापस ले लिया था। बयान तो वापस हुआ लेकिन बाबा रामदेव एक बार फिर विवादों में पड़ गए क्योंकि एक वीडियो में उन्हें कोरोना वैक्सीन का मजाक बनाते हुए देखा गया तो किसी वीडियो में उनकी तरफ से कोरोना मरीजों को लेकर भी टिप्पणी की गई इसलिए IMA ने सरकार से कड़े एक्शन की अपील की थी।

Translate »