November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

‘BSF के अधिकारों का विस्तार राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा, इसका राजनीतिकरण नहीं होना चाहिये’ – पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को कहा कि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के संचालन क्षेत्राधिकार राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े हैं और इसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए।

 

Captain Amrinder Singh/twitter

 

एक ट्विटर थ्रेड में उन्होंने कहा कि बीएसएफ के परिचालन क्षेत्राधिकार का विस्तार करना पंजाब के संघीय अधिकार का उल्लंघन नहीं करता है।

उन्होंने लिखा, “बीएसएफ के परिचालन क्षेत्राधिकार(Operational jurisdiction) का विस्तार न तो पंजाब के संघीय अधिकार का उल्लंघन करता है और न ही क़ानून और व्यवस्था बनाए रखने में राज्य पुलिस की क्षमता पर सवाल उठाता है, जैसा कि कुछ लोग राजनीतिक साधने की कोशिश कर रहे हैं। यह राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित है; इसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए।”

उन्होंने कहा, “दुर्भाग्य से लोग क़ानून-व्यवस्था और राष्ट्रीय सुरक्षा के बीच अंतर नहीं कर पा रहे हैं। पंजाब पुलिस की तरह बीएसएफ हमारी अपनी सेना है, न कि कोई बाहरी या विदेशी सेना जो हमारी ज़मीन पर क़ब्ज़ा करने आ रही है।”

 

‘पंजाब के लोगों और राज्य पुलिस पर भरोसा नहीं’

पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने गुरुवार को विधानसभा के विशेष सत्र में एक प्रस्ताव पेश किया, जिसमें केंद्रीय गृह मंत्रालय के उस निर्देश को वापस लेने की मांग की गई, जिसमें राज्य में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकार क्षेत्र को 15 किमी से बढ़ाकर 50 किमी करने का निर्देश दिया गया था।

रंधावा ने कहा कि BSF के अधिकारों का विस्तार करना दरअसल राज्य पुलिस और पंजाब के लोगों के प्रति भरोसा न होने की बात साफ़ करता है।

केंद्र ने इससे पहले अक्टूबर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को भारत-पाकिस्तान और भारत-बांग्लादेश सीमाओं के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) से भारतीय क्षेत्र के अंदर 50 किलोमीटर के क्षेत्र में तलाशी लेने, संदिग्धों को गिरफ़्तार करने और ज़ब्ती करने का अधिकार दिया था।

बीएसएफ, जिसे केवल पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम राज्यों में पंद्रह किलोमीटर तक कार्रवाई करने का अधिकार था, को अब केंद्र या राज्य सरकारों से बिना किसी बाधा या अनुमति के अपने अधिकार क्षेत्र को 50 किमी तक बढ़ाने की छूट दी गई है।

हालांकि, पांच पूर्वोत्तर राज्यों- मणिपुर, मिज़ोरम, त्रिपुरा, नागालैंड और मेघालय में इसके अधिकार क्षेत्र में 20 किमी की कटौती भी की गई है, जहां इसका अधिकार क्षेत्र 80 किमी तक था। इसी तरह गुजरात में बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र 80 से घटाकर 50 किमी कर दिया गया है। राजस्थान में, बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र 50 किमी पर रहेगा।

Translate »