November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

योगी आदित्यनाथ के “तालिबानी मानसिकता” वाले बयान पर बसपा प्रवक्ता का निशाना, कहा ‘धर्म के नाम पर टकराव पैदा कर रहे हैं सीएम’

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की “तालिबानी मानसिकता” वाली टिप्पणी के लिए उन्हें फटकार लगाई, और उन पर “धर्म के नाम पर लोगों के बीच संघर्ष पैदा करने” का आरोप लगाया।

 

Sudhindra Bhadauria/twitter

 

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए, बसपा प्रवक्ता सुधींद्र भदौरिया ने आरोप लगाया कि 2022 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा और समाजवादी पार्टी (सपा) दोनों राज्य में धर्म की राजनीति कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “बीजेपी और एसपी धर्म के नाम पर राजनीति कर रहे हैं। जैसे-जैसे राज्य विधानसभा चुनाव नज़दीक आ रहे हैं, इन लोगों ने धर्म के नाम पर टकराव पैदा करना शुरू कर दिया है।”

भदौरिया ने कैराना में यूपी के मुख्यमंत्री के बयान के बारे में पूछे जाने पर कहा, “क्या वे (भाजपा और सपा) बेरोज़गारी, भूख और किसानों की समस्याओं जैसे मुद्दों को उठा रहे हैं? या वे केवल संघर्ष पैदा कर रहे हैं?”
उन्होंने कहा, “यह घातक है और जनता इसे स्वीकार नहीं करेगी।”

 

‘तालिबानी मानसिकता वाले देश को प्री-हिस्टोरिक युग में ले जा रहे हैं’

बता दें कि इससे पहले सोमवार को, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुछ साल पहले कैराना से हिंदुओं के “पलायन” का आह्वान किया, और कहा कि तालिबानी मानसिकता का समर्थन करने वाले सभी लोगों से राज्य सरकार सख्ती से निपटेगी।

शामली ज़िले के कैराना में एक रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “राज्य में तालिबानी मानसिकता का समर्थन करने वाले सभी लोगों से उत्तर प्रदेश सरकार सख्ती से निपटेगी। तालिबानी मानसिकता को स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए। इसका समर्थन करने वाले समाज को प्रागैतिहासिक युग(Pre-Historic era) में ले जा रहे हैं। इस मानसिकता से नागरिकों के मूल अधिकारों का हनन होता है। जो लोग अपनी धार्मिक मान्यताओं का आँख बंद करके पालन करते हैं, वे तालिबानी मानसिकता का पालन करते हैं। ऐसी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।”

Translate »