October 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

नोएडा सुपरटेक ट्विन टावर मामले में बिल्डर ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार की याचिका दायर की

नोएडा ट्विन टावर एमरॉल्ड प्रोजेक्ट मामले में सुपरटेक ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की है। सुप्रीम कोर्ट ने जब से दोनों ट्विन टावर को गिराने का आदेश दिया है। तब से बिल्डर काफी परेशान है। यह मामला काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को सुपरटेक ने दोनों टावर को ध्वस्त करने के आदेश में सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की है।

 

Twin tower

 

सुपरटेक ने पुनर्विचार याचिका दायर करते हुए कहा कि, उन्होंने विवादित टावरों के निर्माण में नोएडा के सभी बिल्डिंग बाईलाज का पालन किया है और टावरों के निर्माण में उचित प्राधिकरण से सभी अनुमतियां ली थीं। कोई भी अनुमति अवैध नहीं है। पूरे नोएडा में सभी आवासीय सोसायटियों के हाईराइज टावरों के बीच नौ मीटर की दूरी ही रखी गई जाती है। इस दूरी पर ही उनके नक्शे पास किए जाते हैं। नौ मीटर दूरी का यह नियम मौजूदा समय में भी चल रहा है और नक्शे पास हो रहे हैं।

हालांकि इस बारे में कोर्ट ने क्या फैसला किया है। इसके बारे में अभी जानकारी नहीं मिली है। आपको याद दिला दें कि सुपरटेक ट्विन्स टॉवर को गिराने की कार्यवाही शुरू हो गई है। नोएडा अथॉरिटी ने सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टिट्यूट (CBRE Roorki) को चिट्ठी लिख दी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए अवैध रूप से बने टॉवर को गिराने के लिए नोएडा प्राधिकरण ने प्रक्रिया शुरू कर दी है। सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट को पत्र लिखकर इस मामले में जल्द कार्य योजना देने के लिए कहा है।

Translate »