October 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

ग्रेटर नोएडा: औद्योगिक सेक्टरों को जोड़ते हुए जल्द चलेंगी बसें, सीईओ ने मांगा रूट

ग्रेटर नोएडा: ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने ग्रेटर नोएडा के औद्योगिक संगठनों के साथ ऑनलाइन बैठक की। सीईओ ने उद्यमियों की मांग पर औद्योगिक सेक्टरों को जोड़ते हुए सरकारी बसें चलवाने की बात कही। सीईओ ने उद्यमियों से रूट उपलब्ध कराने को कहा है।

 

ग्रेटर नोएडा के उद्यमियों की समस्याओं का समाधान करने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने बुधवार को ग्रेटर नोएडा के औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ ऑनलाइन बैठक की, जिसमें आईआईए, आईईए, लघु उद्योग भारती, अग्नि सहित कई संगठन शामिल हुए।

आईआईए ग्रेटर नोएडा के प्रतिनिधि एसपी शर्मा ने ग्रेटर नोएडा के औद्योगिक सेक्टरों को जोड़ते हुए बसे चलाई जाएं। सीईओ ने उद्यमियों से कहा कि आप बसों का रूट बनाकर उपलब्ध करा दें, उस पर रोडवेज या एनएमआरसी से बात करके बसें चलवा दी जाएंगी। बशर्ते, उस रूट पर सवारियां मिलें। सीईओ ने उद्यमियों से प्राधिकरण के ड्यूज का भुगतान ऑनलाइन करने को कहा।

प्राधिकरण ने उद्यमियों से मित्रा एप के जरिए शिकायत पर काम हो जाने के बाद फीडबैक देने की भी अपील की, जिससे कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को प्रोत्साहन मिले। सीईओ ने उद्यमियों को बताया कि इंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग से जल्द ही घर बैठे नो ड्यूज सर्टिफिकेट, ट्रांसफर मेमोरंडम आदि सुविधाओं का लाभ ले सकेंगे।

लघु उद्योग भारती, गौतमबुद्ध नगर के महासचिव एनके गुप्ता की शिकायत पर गुलिस्तानपुर गांव का पानी रोड पर आने की समस्या का जल्द समाधान कराने का आश्वासन दिया। आईईए के प्रतिनिधि पीके तिवारी की तरफ से डस्टबिन रखवाने की मांग पर सीईओ ने बताया कि औद्योगिक सेक्टरों में डस्टबिन रखे जाएंगे।

अगर डस्टबिन में कूड़ा भरा मिला तो संबंधित ठेकेदार पर 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। औद्योगिक संगठन अग्नि के प्रतिनिधि आदित्य घिल्डियाल ने औद्योगिक सेक्टरों में क्योस्क लगाने की मांग की। सीईओ ने उद्योग विभाग को जगह चिंहित कर क्योस्क लगवाने के निर्देश दिए। उद्यमियों की मांग पर आठ नए सेक्टरों में छोटे औद्योगिक भूखंडों की योजना शीघ्र लाने की बात कही। उद्यमी श्रवण मित्तल ने बैंकों के साथ टाई अप करके औद्योगिक योजना लांच करने को कहा।

 

 

सीईओ ने बताया कि सेक्टर गामा टू स्थित ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पुराने दफ्तर में ईएसआई डिस्पेंसरी शुरू हो जाने की जानकारी दी। उद्योगों में कार्यरत कर्मचारियों को इस सुविधा का लाभ लेने की अपील की।

 

प्रदूषण पर ग्रेनो प्राधिकरण अलर्ट, घास लगाने की अपील

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने उद्यमी संगठनों के साथ बैठक में अपील की, कि उद्योगों की दीवार के साथ खाली जगह पर घास लगाएं। निवासी भी घरों के गेट को छोड़कर शेष दीवार के साथ घास लगाएं। ऐसा करने में बहुत कम खर्च आएगा, लेकिन इससे प्रदूषण रोकने में मदद मिलेगी। अगर आपके आसपास कूड़ा का ढेर दिखे तो उसे जलाए नहीं, बल्कि सूचना दें। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की टीम उसे हटवाएगी। अगर कहीं पर कंस्ट्रक्शन वेस्ट मैटेरियल दिखे तो उसकी भी सूचना दें। उसे तत्काल हटवाया जाएगा। सीईओ ने प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए 15 अक्तूबर से ग्रैप लागू होने की जानकारी दोहराई। प्रदूषण रोकने के लिए ग्रेटर नोएडावासियों से सहयोग की अपील की।

आपके पड़ोस में खाली प्लॉट है, तो सूचना दें

सीईओ ने उद्यमियों से अपील की, कि अगर कहीं खाली प्लॉट दिखे तो उसकी सूचना ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को उपलब्ध करा दें। उसके आवंटी से बात करके उस प्लॉट पर किराए पर उद्योग चलवाने में प्राधिकरण सहयोग करेगा। इससे आवंटी को आमदनी होगी और उद्योग लगाने वालों को जगह मिल जाएगी।

Translate »