September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

केंद्र ने पूर्वोत्तर राज्यों में कोरोना से निपटने के लिए की 1,300 करोड़ के पैकेज की घोषणा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने मंगलवार को पूर्वोत्तर राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों और अन्य अधिकारियों के साथ COVID-19 महामारी और टीकाकरण पर समीक्षा बैठक की।

 

Credit- REUTERS

 

कोविड प्रतिक्रिया पैकेज के तहत स्वास्थ्य मंत्री ने घोषणा की कि पूर्वोत्तर राज्यों को दवाएं ख़रीदने के लिए 1,300 करोड़ रुपये से अधिक दिए जाएंगे और ज़िला स्तर पर ऑक्सीजन की आपूर्ति और बिस्तरों में वृद्धि भी की जाएगी।

उन्होंने कहा, “टीकाकरण में तेज़ी लाने पर भी विस्तृत चर्चा हुई।” उन्होंने समीक्षा बैठक के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “इस कोष का उपयोग क्षेत्र के राज्यों द्वारा टीकाकरण अभियान को तेज़ करने के लिए भी किया जाएगा। भारत सरकार राज्यों को पर्याप्त टीके उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है।”

पूर्वोत्तर में महामारी की लंबी दूसरी लहर पर मंडाविया ने कहा कि इस क्षेत्र में कोरोना की पीक भारत के बाकी हिस्सों की तुलना में बहुत बाद में देखा गई थी और इसलिए इसे घटने में भी समय लग रहा है।
मंडाविया ने कहा, “पिछले दो हफ़्तों में, पूर्वोत्तर में कोरोना मामलों में गिरावट शुरू हो गई है और यह एक अच्छा संकेत है। सभी राज्यों ने दूसरी लहर को रोकने के लिए विभिन्न कदम उठाए और अब यह समाप्त हो रहा है।”

इस बीच, COVID-19 स्थिति की समीक्षा करने के बाद, असम सरकार ने आज अपने नए दिशानिर्देशों में ढील दी और रात के कर्फ्यू के समय को शाम 7 बजे से सुबह 5 बजे तक कर दिया, जो पहले शाम 6 बजे से सुबह 5 बजे तक था।

राज्य सरकार ने कामरूप ज़िले को छोड़कर और उसके अलावा निजी वाहनों और लोगों की अंतर-राज्यीय आवाजाही की भी अनुमति दी। हालांकि, अंतर-ज़िला सार्वजनिक परिवहन निलंबित है।

बता दें कि सोमवार को जारी मीडिया बुलेटिन के अनुसार, असम में 758 नए COVID-19 मामले, 1,014 रिकवरी और 10 मौतें हुईं। इसके अलावा पॉजिटिविटी रेट 0.69 प्रतिशत थी।

Translate »