September 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

जलभराव के स्थायी समाधान के लिए सड़क पर उतरे ग्रेटर नोएडा के सीईओ, जलभराव दिखे तो इन नम्बरों पर कॉल करें

तेज बारिश होने पर ग्रेटर नोएडा में जलभराव की समस्या का स्थायी समाधान निकालने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण बुधवार को खुद ही सड़कों पर उतरे।

औद्योगिक सेक्टर इकोटेक थ्री, हल्दौनी मोड़, हबीबपुर, लखनावली, हिंडन पुश्ता, सुथ्याना समेत कई जगहों का निरीक्षण किया। सीईओ ने परियोजना विभाग से जलभराव के शीघ्र निकासी पर विस्तृत प्लान एक सप्ताह में देने के निर्देश दिए।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण सुबह करीब 10 बजे हल्दौनी मोड़ पहुंच गए। महाप्रबंधक परियोजना एके अरोड़ा व वरिष्ठ प्रबंधक एनके जैन भी मौजूद रहे। मार्केट के सामने जमा पानी के कारणों के बारे में जानकारी ली। वहां दो टैंकर के जरिए पानी की निकासी की जा रही थी। सीईओ ने पानी निकासी के लिए बने नाले के स्लोप को देखा। ठीक न मिलने पर इंजीनियर को फटकार भी लगाई। हिंडन नदी की तरफ ढलान देते हुए नाला बनाने के निर्देश दिए। हल्दौनी मोड़ पर एकत्रित कूड़े को एक दिन में साफ करने और उसके प्रमाण के लिए वीडियो बनाकर उपलब्ध कराने को कहा है। वहां से सीईओ सेक्टर ईकोटेक थ्री गए।

आईआईए के प्रतिनिधि एसपी शर्मा, सर्वेष गुप्ता, मनीष त्यागी, प्रदीप अग्रवाल आदि उद्यमियों से जलभराव की समस्या पर बात की है। उद्योग केंद्र व महिला उद्यमी पार्क में जलभराव के बारे में पूछा। सीईओ ने हबीबपुर के मार्केट के पास बने नाले के निकासी प्वाइंट को देखा। वरिष्ठ प्रबंधक को नाले की तत्काल सफाई के निर्देश दिए। हबीबपुर के पास मोड़ पर (ब्वॉयसेन कंपनी के पास) ग्रीन बेल्ट को विकसित करने को कहा। सीईओ ने सीआईएसएफ कैंप के पास बने नाले की भी पड़ताल की। गंदगी मिलने पर नाराजगी जताते हुए तत्काल सफाई के निर्देश दिए।

औसत बारिश के आधर पर तय होता है ड्रेनेज सिस्टम

विशेषज्ञों के मुताबिक किसी भी शहर में ड्रेनेज सिस्टम मौसम विभाग से औसत बारिश के अनुमान पर तैयार किया जाता है। उसके हिसाब से नालियां बनाई जाती हैं। औसत से अधिक बारिश होने पर जल निकासी में थोड़ा समय लगता है। मसलन गौतमबुद्ध नगर में मंगलवार सुबह आठ बजे से बुधवार दोपहर करीब 2.45 बजे 39.5 मिलीमीटर बारिश हुई है, जबकि औसत बारिश 6.2 मिलीमीटर है। इसके बावजूद ग्रेटर नोएडा में जहां भी जलभराव दिखा, उसे समय से निकाल दिया गया।

जलभराव दिखे तो कॉल करें 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण तेज बारिश होने पर जल निकासी के लिए पंप तैयार रखता है और जहां भी सूचना मिलती है तत्काल वहां से जल निकासी करा देता है। ग्रेटर नोएडा में कहीं भी जलभराव दिखे तो आप कंट्रोल रूम नंबर 0120-2336046, 47 48 व 49 पर सूचना दे सकते हैं।

Translate »