October 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

चरणजीत सिंह चन्नी आज लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ, पंजाब को मिलेगा पहला दलित सीएम

पंजाब में सियासी हलचल और मुख्यमंत्री के इस्तीफ़े के बाद अब पार्टी आलाकमान ने चरणजीत सिंह चन्नी का नाम मुख्यमंत्री पद के लिए चुन लिया है।

अब से कुछ ही देर में चन्नी मुख्यमंत्री पद को शपथ लेंगे। कांग्रेस विधायक दल के नेता रहे चन्नी कर शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल होंगे।

बता दें कि शपथ लेने से पहले चन्नी रूपनगर के एक गुरुद्वारे पहुँचे और माथा टेका। चरणजीत सिंह चन्नी दलित सिख समुदाय से आते हैं और अमरिंदर सिंह सरकार में वे तकनीकी शिक्षा मंत्री के पद पर कार्यरत थे।

ग़ौरतलब है कि चन्नी पंजाब के पहले दलित नेता हैं जो राज्य के मुख्यमंत्री बनेंगे। वहीं समाचार एजेंसी एनडीटीवी के मुताबिक़ उप मुख्यमंत्री भी बनाए जाएंगे और इसके लिए सुखजिंदर सिंह रंधावा का नाम चुना गया है, उसके अलावा डिप्टी सीएम के लिए अब तक नाम तय नहीं हुआ है।

बीते दिन विधायक दल के नेता चुने जाने पर वे राज्यपाल से मिलने पहुँचे। राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से भेंट के बाद चन्नी ने कहा, ‘‘हमने अपना दावा पेश किया। राज्यपाल महोदय ने 11 बजे शपथग्रहण का समय दिया है।”

जश्न का माहौल

चरणजीत सिंह चन्नी के मुख्यमंत्री बनने की ख़बर के बाद से ही खराड़ में जश्न का माहौल है। उनके परिजनों, समर्थकों और दोस्तों ने उनके घर के बाहर जश्न मनाया और इस मौक़े पर चन्नी की बहन ने कहा, “वह (चन्नी) बहुत मेहनत करने वाले शख्स हैं और राज्य के लिए बहुत अच्छा काम करेंगे।”

बताते चलें कि चन्नी दलित समुदाय से आते हैं और कैप्टेन सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री थे। इसके अलावा वे रूपनगर ज़िले के चमकौर साहिब विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। यही नहीं चन्नी शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठबंधन के शासनकाल के दौरान साल 2015-16 में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष भी थे।

कहा जा रहा है कि विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले एक दलित नेता को सीएम बनाकर कांग्रेस ने सामाजिक समीकरण साधने की कोशिश की है क्योंकि राज्य में 30 फ़ीसद आबादी दलितों की है।

Translate »