April 11, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर में बच्चे ज़्यादा प्रभावित हो रहे हैं कोरोना से, रहे सावधान!

कोरोना महामारी की दूसरी लहर का कहर जारी है, देश में ने मंगलवार को 90,000 से अधिक कोरोनो वायरस के मामले आये हैं। आपको बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर युवाओं की बजाय बच्चों को ज़्यादा प्रभावित कर रही है।

डॉक्टरों का कहना है कि अगर बच्चे को बुखार आता है लेकिन दो दिन में ठीक हो जाता है फिर भी उसी 14 के लिए आइसोलेशन में रखना है जब तक उसकी रिपोर्ट नेगेटिव न आ जाये और अगर उसकी रिपोर्ट 4 से 5 दिन में नेगेटिव आ जाती है तो उसे क्वारंटाइन करने की ज़रूरत नहीं है।

डॉक्टरों के अनुसार कोरोना की दूसरी लहर पहले के मुकाबले ज़्यादा प्रभावित कर रही है क्योंकि कोरोना वायरस में डबल म्यूटेशन हुआ है जिससे कारण ज़्यादा संक्रमण फैला सकता है।  यह कोरोना स्ट्रेन बच्चों में बहुत खामोसी से पहुंच रहा है और फिर अगर ये बच्चों से बड़े में पहुँचता है तो ये कोरोना भयावह रूप ले सकता है, इसलिए इस पर हमेशा ध्यान रखना चाहिए।अगर बच्चे को बुखार आना, ठंड लगना, सूखी खांसी, उल्टी, दस्त, भूख नहीं लगना, थकान दिखे उसका तुरंत आरटी पीसीआर (RT PCR TEST)  टेस्ट करवाना चाहिए
डॉक्टरों के अनुसार वैक्सीन महामारी से लड़ सकती है लेकिन किसी भी बीमारी के लिए कोई भी वैक्सीन 100%  बचाव नहीं कर सकती। वैक्सीन लेने पर हर किसी को को मास्क का प्रयोग करना चाहिए।
अगर बच्चे को बुखार आना, ठंड लगना, सूखी खांसी, उल्टी, दस्त, भूख नहीं लगना, थकान दिखे उसका तुरंत आरटी पीसीआर (RT PCR TEST)  टेस्ट करवाना चाहिए।
देश मे कोरोना का कहर जारी है, बीते 24 घंटे में 95,563 लोग संक्रमित हुए और 445 लोगों की मौत हुई, ठीक होने वालों की संख्या 50,095 है। इसके साथ ही वर्तमान में 7.84 लाख लोग कोरोना एक्टिव हैं जिनका इलाज चल रहा है।
देश मे अब तक 1.27  करोड़ लोगों को कोरोना हुआ, इनमें ठीक होने वालों की संख्या 1.17 करोड़ है। 1.67 लोग इस महामारी से अपनी जान गंवा चुके हैं।
Translate »