Monday, September 26, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

अफ़ग़ानिस्तान मामले में चीन ने दी पाकिस्तान को एकजुट होने की सलाह, तुर्की से भी की बात

by Disha
0 comment

बुधवार को चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि पाकिस्तान और चीन को अफ़ग़ानिस्तान में एक स्थिर सत्ता हस्तांतरण को समर्थन देने के लिए आपस में बातचीत के लिए समन्वय को और मज़बूत करना चाहिए।

 

 

इस बाबत चीनी मंत्री ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी से नहीं बल्कि तुर्की के विदेश मंत्री से भी बात की।

चीन के समर्थक अख़बार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक़ चीनी विदेश मंत्री ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री से कहा कि अफ़ग़ानिस्तान में तथाकथित “लोकतांत्रिक परिवर्तन” का काम आख़िरकार अवास्तविक सिद्ध हुआ जिससे वहाँ अनचाहे परिणाम निकले हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस घटना से सबक़ लेना चाहिए।

इसके अलावा वांग ने कहा कि, ‘अफ़ग़ानिस्तान के ज़िम्मेदार पड़ोसी होने के नाते चीन और पाकिस्तान को आपस में बातचीत और तालमेल को सशक्त करना चाहिए और क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता को बनाए रखने के लिए रचनात्मक भूमिका निभानी चाहिए।’

चीनी विदेश मंत्री ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान में दोनों देशों के दूतावास सामान्य रूप से काम कर रहे हैं इसलिए दोनों पक्षों को अपने दूतावास कर्मियों व संस्थाओं की सुरक्षा के लिए तालिबान से बात करनी चाहिए।

इसपर पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा कि चूंकि चीन और पाकिस्तान अफ़ग़ानिस्तान के पड़ोसी हैं इसलिए वे चाहते हैं कि वहाँ शांति रहे।

चीनी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार क़ुरैशी ने कहा कि ‘पाकिस्तान चीन के साथ संपर्क को मज़बूत करने के लिेए तैयार है और चाहता है कि अफ़ग़ानिस्तान के पड़़ोसी देशों को लेकर एक बहुपक्षीय समन्वय की व्यवस्था बनाई जाए।’

यही नहीं चीनी विदेश मंत्री ने तुर्की के अपने समकक्ष मेवलुट कावुसोग्लु से भी इस मामले को लेकर फ़ोन पर बात की।
तुर्की के विदेश मंत्री ने अपने प्रतिक्रिया में कहा कि ‘वो चीन की राय को समझते हैं और तुर्की ये चाहता है कि चीन से क़रीबी तालमेल रखे जिससे कि अफ़ग़ानिस्तान में जल्द से जल्द स्थितियाँ सही दिशा में बढ़ सकें।’

About Post Author