कमलनाथ की अभद्र टिप्पणी के खिलाफ सीएम शिवराज सिंह चौहान मौन धरने पर बैठे, कमलनाथ ने भाजपा उम्मीदवार को बोला- आइटम

मध्य प्रदेश में इस समय उपचुनाव की तैयारी चल रही है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुई इमरती देवी को उम्मीदवार बनाया है। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपनी ही पार्टी से बगावत करने वाली इमरती देवी पर अभद्र टिप्पणी की है जिसके बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान धरने पर बैठ गए हैं।

कमलनाथ की अभद्र टिप्पणी के खिलाफ सीएम शिवराज सिंह चौहान मौन धरने पर बैठे, कमलनाथ ने भाजपा उम्मीदवार को बोला- आइटम
कमलनाथ की अभद्र टिप्पणी के खिलाफ सीएम शिवराज सिंह चौहान मौन धरने पर बैठे, कमलनाथ ने भाजपा उम्मीदवार को बोला- आइटम

मध्य प्रदेश में इस समय कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी में काफी बवाल हो रहा है। कांग्रेस की पूर्व विधायक इमरती देवी इस समय कांग्रेस को छोड़कर भाजपा में शामिल हो गई है। यह बात कांग्रेस को हजम नहीं हो रही है। अब भाजपा ने इमरती देवी को उम्मीदवार भी घोषित कर दिया जिसके बाद कमलनाथ का खून और भी ज्यादा उबल गया और कमलनाथ ने इमरती देवी को आइटम बोल दिया है।

कमलनाथ ने एक मंच के माध्यम से एमपी की जनता को सम्बोधित करते हुए कहा था कि सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं। सरल स्वभाव के सीधे साधे हैं। यह उसके जैसे नहीं है। क्या है उसका नाम? मैं क्या उसका नाम लूं आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं। आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था। यह क्या “आइटम” है। इस मंच पर पूर्व सीएम कमलनाथ डबरा में कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के समर्थन में प्रचार कर रहे थे।

इस पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अपने बयान पर वो प्रायश्चित करेंगे या नहीं, लेकिन मैं प्रायश्चित जरूर करूंगा। मुझे आश्चर्य होता है कि मैं भी मुख्यमंत्री हूं। रहा भी हूं। मैंने कभी ऐसा अपमान नहीं किया। मन आत्मग्लानि से भरा हुआ है।

उन्होंने आगे कहा है कि ‘भाइयों-बहनों मेरा अपमान कोई भी कर दे, मैं सहन कर लूंगा। लेकिन आज कमलनाथ तुमने अन्याय की अति की है। पराकाष्ठा की है। तुमने अन्याय किया। तुमने चंबल अंचल के ग्वालियर जिले की एक बेटी का अपमान किया है। इमरती देवी गरीब के घर पैदा हुई होंगी। इमरती देवी मजदूरी कर-कर के विधायक बनीं और मंत्री बनीं।