May 13, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

पाकिस्तान में कट्टरपंथियों ने बनाया पुलिस अधिकारियों को बंधक, पार्टी नेता की गिरफ़्तारी से थे नाराज़

पाकिस्तान की पुलिस ने कहा कि एक कट्टरपंथी इस्लामी समूह के नेता की गिरफ़्तारी के बाद रविवार को उन्होंने लाहौर स्थित पुलिस मुख्यालय में छह सुरक्षाकर्मियों को बंधक बना लिया।

Credit- Reuters
तहरीक-ए-लबिक पाकिस्तान (टीएलपी) समूह ने सरकार को फ़्रांस में पैगंबर मोहम्मद को चित्रित करने वाले कार्टून के प्रकाशन पर फ़्रांसीसी राजदूत को निष्कासित करने के लिए 20 अप्रैल तक की समयसीमा दी थी।
इस बात का जवाब पुलिस अधिकारियों ने टीएलपी के नेता को गिरफ़्तार करके दिया।
इस घटना के बाद टीएलपी नेता के समर्थकों ने समूचे पाकिस्तान में विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया जिसमें कम से कम चार लोग मारे गए, सैकड़ों घायल हुए और हज़ारों लोग गिरफ़्तार हुए।
इस हिंसा के बाद पाकिस्तान ने टीएलपी समूह पर प्रतिबंध लगा दिया है।
Credit- Reuters
लाहौर पुलिस के प्रवक्ता आरिफ़ राणा ने कहा कि एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और दो अर्धसैनिक बल टीएलपी द्वारा बन्दी बनाये गए पुलिस अधिकारियों में शामिल थे।
अभी भी TLP के समर्थक सोशल मीडिया पर वीडियो साझा कर रहे हैं और समूह का समर्थन करने वाले हैशटैग भी रविवार को पाकिस्तान में ट्रेंड करते नज़र आ रहे थे।
Credit- Reuters
कई वीडियो में आँसू गैस के गोले और गोलियों की आवाज़ें साफ़ सुनाई देती हैं, अन्य वीडियो में घायल प्रदर्शनकारियों को भागते हुए दिखाया गया है। हालाँकि अभी तक इन वीडिओज़ की पुष्टि नहीं की जा सकी है।
शनिवार को पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि समूह पर प्रतिबंध लगा दिया गया है क्योंकि यह “राज्य की रिट को चुनौती देता था और सड़क पर हिंसा और सार्वजनिक क़ानून लागू करने वालों पर हमला करता था।”
बता दें कि पिछले हफ़्ते फ़्रांस ने अपने नागरिकों को अपनी सुरक्षा के लिए अस्थायी रूप से पाकिस्तान छोड़ने की सलाह भी दी थी।
Translate »