Delhi: लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के तीन शार्पशूटर गिरफ्तार

by Priya Pandey
0 comment

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने रोहिणी इलाके से लॉरेंस बिश्नोई सिंडिकेट के तीन शार्प शूटरों को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि  जबरन वसूली के एक मामले में वांछित लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के तीन कथित शार्पशूटरों को पश्चिमी दिल्ली के रोहिणी इलाके से पकड़ लिया गया। उन्होंने बताया कि आरोपियों की पहचान कृष्णा नगर निवासी उदित साध (31), नांगलोई निवासी अनीश कुमार उर्फ मिंटू (42) और निहाल विहार के मोहित गुप्ता (27) के रूप में हुई है।पुलिस के मुताबिक, 23 जून 2023 को लाजपत राय मार्केट स्थित एक व्यापारी को रंगदारी के लिए फोन आया था। आरोपी ने प्रोटेक्शन मनी के तौर पर 20 लाख रुपये की मांग करते हुए लॉरेंस बिश्नोई की ओर से उसे धमकी दी थी। पुलिस ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि, वे शिकायतकर्ता को तिहाड़ जेल के पास के इलाके से फोन करते थे, इसलिए पुलिस और शिकायतकर्ता ने यह मान लिया कि कथित कॉल करने वाला जेल में ही था। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि जबरन वसूली मामले में लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के तीन अपराधी शामिल थे।

3 जुलाई को पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी रोहिणी के जापानी पार्क के गेट नंबर-3 के पास आएंगे। विशेष पुलिस आयुक्त (विशेष शाखा) एचजीएस धालीवाल ने कहा कि जाल बिछाया गया और उन्हें रात करीब 10.20 बजे पकड़ लिया गया। पुलिस ने कहा कि उनके कब्जे से दो सिंगल-शॉट पिस्तौल और चार जिंदा कारतूस बरामद किए गए। उन्होंने बताया कि साध लाजपत राय मार्केट में एक दुकान चलाता था और इलाके के कई थोक विक्रेताओं को जानता था। उसने लोगों को धोखा देना शुरू कर दिया और 2015 में जेल चला गया। जेल में उसकी मुलाकात सह-आरोपी अनीश और बिश्नोई गिरोह के सदस्यों से हुई। पुलिस ने बताया कि इसके बाद आरोपियों ने लॉरेंस बिश्नोई के नाम पर व्यापारियों को धमकाने की साजिश रची, क्योंकि वे जानते थे कि उसके नाम पर उन्हें जबरन वसूली की रकम आसानी से मिल जाएगी।

About Post Author