September 28, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

गुरमीत राम रहीम की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, रणजीत हत्याकांड में साजिश रचने का आरोप

डेरा सच्चा सौदा सिरसा के चीफ गुरमीत राम रहीम सिंह की सजा और बढ़ सकती है क्योंकि डेरे के पूर्व प्रबंधक रणजीत सिंह की हत्या के मामले में 26 अगस्त को फैसला आ सकता है।

पंचकूला स्थित CBI की विशेष अदालत में राम रहीम को निजी तौर पर पेश होने का आदेश दिया है लेकिन इस पर प्रदेश के लॉ एंड ऑर्डर के तहत ऐसा संभव नहीं है। बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से ही राम रहीम की पेशी हुई लेकिन उनके अन्य साथी आरोपी कोर्ट में पेश हुए थे। बता दें राम रहीम डेरे की दो साध्वियों के यौन शोषण के जुर्म में रोहतक की जिला जेल में बन्द है।

डेरे के सेवक रहे खट्टा सिंह ने रणजीत सिंह की हत्या का
आरोप राम रहीम पर लगाया था उसी को लेकर 26 अगस्त को सुनवाई होनी है। खट्टा सिंह ने कोर्ट में कहा था, ‘रणजीत ने गुमनाम चिट्ठी अपनी बहन से लिखवाई थी इसलिए राम रहीम ने मेरे सामने 16 जून 2002 को सिरसा डेरे में उसको मारने का आदेश दिया था।’ बता दें 10 जुलाई 2003 को रणजीत सिंह की हत्या हो गई थी।

पिछले 5 साल से जेल में है राम रहीम

सच्चा सौदा चीफ गुरमीत राम रहीम पत्रकार की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा मिली थी। 27 अगस्त 2017 को रोहतक की सुनारियां जिला जेल में ही CBI की अदालत लगाई गई। इस दिन सजा तय होने के बाद से राम रहीम जेल में है। इसके बाद पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के मर्डर केस में भी उसे 20 साल की कैद हो गई थी। साथ ही राम रहीम को दुष्कर्म के मामले में 20 साल की कैद हुई है।

Translate »