October 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

पश्चिम बंगाल: भवानीपुर में बीजेपी के दिलीप घोष पर हुआ हमला, कहा हमें डराने के लिए उन्होंने बंदूकें निकाल लीं

विधानसभा उपचुनाव नज़दीक आने और दक्षिण कोलकाता निर्वाचन क्षेत्र में प्रचार तेज़ होने के साथ ही ममता बनर्जी के गढ़ भवानीपुर में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई शुरू हो गई।

 

Dilip Ghosh/twitter

 

बता दें कि भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष पर हमला भवानीपुर में कथित रूप से टीएमसी समर्थकों द्वारा हमला किया गया।

घोष के साथ गए सुरक्षाकर्मियों को उन्हें सुरक्षित बाहर निकालना पड़ा। उनमें से दो कैमरे में तब कैद हुए जब उन्होंने टीएमसी कार्यकर्ताओं पर पिस्तौल तान दी।

घटना भवानीपुर इलाके में जादूबाबर बाज़ार (जादू बाबू का बाजार) के पास हुई जहां तृणमूल के कुछ समर्थकों ने घोष का रास्ता रोक दिया और उन्हें सड़क के किनारे धकेल दिया गया।

समर्थकों ने ‘जॉय बांग्ला’ का नारा देना शुरू कर दिया और वापस जाने के लिए चिल्लाने लगे।

भाजपा भवानीपुर में आक्रामक रूप से प्रचार कर रही है और ममता बनर्जी के ख़िलाफ़ वकील प्रियंका टिबरेवाल को मैदान में उतारा है। ममता बनर्जी को मुख्यमंत्री बने रहने के लिए यह उपचुनाव जीतना है।

 

 

मीडिया से बात करते हुए घोष ने कहा, ‘जब मैं आज भवानीपुर में प्रचार कर रहा था, तब टीएमसी कार्यकर्ताओं ने पथराव किया। मेरे साथ दुर्व्यवहार किया। मैं एक टीकाकरण केंद्र में कुछ लोगों से मिल रहा था, तभी कुछ लोगों ने मुझे घेर लिया और धक्का-मुक्की करने लगे। हमारे एक कार्यकर्ता को बुरी तरह पीटा गया। मुझपर भी हमला किया गया। मेरे सुरक्षाकर्मियों ने इसे रोकने की कोशिश की और उन्होंने हमलावरों को डराने के लिए अपनी बंदूकें निकाल लीं। अर्जुन सिंह को भी घेर लिया गया और उन्हें ‘वापस जाओ’ के नारों के बीच क्षेत्र छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा।’
घोष ने आरोप लगाया कि स्थानीय पुलिस ने उनकी मदद नहीं की।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा कि भवानीपुर में पार्टी की व्यापक पहुंच ने टीएमसी को बेचैन कर दिया है। उन्होंने कहा कि उन्हें रोकने के प्रयास किए जा रहे हैं।

 

 

ग़ौरतलब है कि भवानीपुर निर्वाचन क्षेत्र में बीजेपी प्रचार के लिए एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा रही है। यहाँ से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भाजपा के सुवेन्दु अधिकारी से हारने के बाद अब दोबारा चुनाव लड़ रही हैं।

 

वीडियो में क्या है?

भाजपा के भवानीपुर अभियान से सामने आए वीडियो में दिलीप घोष को नारे लगा रहे प्रदर्शनकारियों से घिरे हुए दिखाया गया है, जबकि उनके सुरक्षाकर्मी उनका बचाव करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

इस बीच चुनाव आयोग ने हमले को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि भबानीपुर विधानसभा सीट मई में पश्चिम बंगाल के कृषि मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय द्वारा खाली कर दी गई थी, जिससे पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को अपना पद जारी रखने के लिए भबनीपुर सीट से चुनाव लड़ने का रास्ता मिल गया।
भवानीपुर में 30 सितंबर को उपचुनाव होंगे और 3 अक्टूबर को नतीजे घोषित किए जाएंगे।

Translate »