January 21, 2022

MotherlandPost

Truth Always Wins!

पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश में गंगा में सुरक्षित नहीं डॉलफिन, RTI के जरिए हुआ बड़ा खुलासा

देश की राष्ट्रीय जलीय जीव यानि गंगा डॉलफिन का भी शिकारियों द्वारा गैर कानूनी तरीके से शिकार किया जा रहा है। यह जानकारी वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो ने समाजसेवी एवं अधिवक्ता श्री रंजन तोमर को एक आरटीआई के जवाब में दी है।

यही नहीं शिकार की संख्या पिछले दो वर्षों में न केवल बढ़ी है बल्कि यह दो राज्यों उत्तर प्रदेश एवं पश्चिम बंगाल में इनके शिकार का काफी इजाफा हुआ है। मिल रही जानकारी के अनुसार श्री तोमर ने देश भर में पिछले पांच वर्षों में गंगा डॉलफिन के शिकार का ब्यौरा माँगा था। जवाब में ब्यूरो ने बताया है कि 2020 में पश्चिम बंगाल में दो केस की जानकारी ब्यूरो के पास उपलब्ध है, जहाँ डॉलफिन का शिकार किया गया। दुखद बात यह है कि इसके खिलाफ सरकार एक भी अपराधी को नहीं पकड़ पायी। वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश में 2021 में गंगा में एक डॉलफिन का शिकार हुआ जिसके बाद सरकार द्वारा चार अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। 2016 से 2019 तक एक भी डॉलफिन का शिकार नहीं हुआ जो संतोषजनक बात है लेकिन फिर से 2020 एवं 2021 में लगातार अलग अलग राज्यों में शिकार हुआ। यह बात भी संतोष जनक है कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कड़ी कार्यवाही करते हुए 4 शिकारियों को गिरफ्तार किया जो की एक अच्छा उदाहरण पेश करेगा।

श्री तोमर का कहना है के राष्ट्रिय जलीय जीव के बारे में आम जनमानस में जानकारी का अभाव है। ऊपर से इस जीव के बढ़ते शिकार से इस जीव के बारे में लोगों में जानकारी फैलाना अत्यंत आवश्यक है। इसीलिए उन्होंने इसपर आरटीआई लगाई है। इस तरह से डॉल्फिन के शिकार से एक बार फिर इनकी जनसंख्या में कमी आने का खतरा मंडराने लगा है और अगर सरकार इसी तरह हाथ पर हाथ धरे बैठी रही और शिकारी डॉल्फिन का शिकार करते रहे तो वह दिन दूर नहीं जब भारत में गंगा नदी से डॉल्फिन विलुप्त हो जाएंगे।

Translate »