November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

घरेलू कूड़े को फेंके नहीं री-साइकिल करें, ग्रेटर नोएडा को स्वच्छ बनाएं-सीईओ

ग्रेटर नोएडा: किचन वेस्ट को इधर-उधर न फेंकें, बल्कि उसे री-साइकिल कर खाद बनाएं।  खाद का उपयोग पौधे व सब्जी उगाने में करें। इससे ग्रेटर नोएडा स्वच्छ भी होगा और हरा-भरा भी। प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने शुक्रवार को बल्क वेस्ट जनरेटरों के लिए आयोजित सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट कार्यशाला में ग्रेटर नोएडावासियों से यह अपील की। सीईओ ने कहा कि सफाईकर्मी को कूड़ा वाला नहीं, बल्कि सफाई करने वाला कहें। वह आपके घर का कूड़ा उठाने के लिए आता है।

 

 

ग्रेटर नोएडा को स्वच्छ बनाने के लिए प्राधिकरण के जनस्वास्थ्य विभाग ने एक और पहल करते हुए शुक्रवार को सभी बल्क वेस्ट जनरेटरों, मसलन हॉस्पिटल, सोसाइटी, शिक्षण संस्थान, उद्योग, वाणिज्यिक प्रतिष्ठान आदि के प्रतिनिधियों को जागरूक करने के लिए कार्यशाला का आयोजन किया।

इस कार्यशाला में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के बारे में जानकारी दी गई। कार्यशाला में पहुंचे सीईओ नरेंद्र भूषण ने कहा कि जिस तरह आप अपनी आमदनी को शिक्षा, स्वास्थ्य, खान-पान, घर आदि पर खर्च करते हैं, उसी तरह आमदनी का एक छोटा सा हिस्सा अपने आसपास की साफ-सफाई व कूड़े के प्रबंधन भी खर्च करें। जिस सेक्टर या सोसाइटी में रहते हैं, वहां रखरखाव के लिए तय मासिक शुल्क जरूर दें। उसी रकम से सेक्टर या सोसाइटी के रखरखाव और साफ-सफाई होगी।

प्राधिकरण के ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यशाला में नरेंद्र भूषण ने कहा कि जब आप पॉलिथीन में भरे कूड़े को इधर-उधर फेंक देते हैं, तो उससे न सिर्फ शहर की आबोहवा प्रदूषित होती है, बल्कि वह आने वाली पीढ़ी के लिए बहुत खतरनाक साबित होगी। इससे वायु और जल दोनों ही प्रदूषित होते हैं। इस पॉलिथीन को मवेशी खा लेते हैं, जिससे उनकी जान भी चली जाती है। सीईओ ने अपील की कि घरेलू वेस्ट को सेग्रिगेट करके कंपोस्ट बनाएं और उसका इस्तेमाल प्लांट्स को हरा-भरा बनाने के लिए करें।

प्राधिकरण की सहयोगी संस्था फीडबैक फाउंडेशन ने कार्यशाला में बल्क वेस्ट जनरेटरों को ओरिएंटेशन के जरिए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर तमाम जानकारी दी। इस दौरान जनस्वास्थ्य विभाग के प्रभारी डीजीएम सलिल यादव, अर्नेस्ट एंड यंग और फीडबैक फाउंडेशन के प्रतिनिधि भी शामिल रहे।

 

फिर होगी स्वच्छता रैंकिंग प्रतियोगिता

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण एक बार फिर सेक्टरों व सोसाइटियों के बीच स्वच्छता पर प्रतियोगिता आयोजित करेगा। सीईओ नरेंद्र भूषण ने कार्यशाला में जनस्वास्थ्य विभाग से स्वच्छता रैंकिंग प्रतियोगिता शीघ्र कराने के निर्देश दिए। यह प्रतियोगिता इस साल के अंत तक जरूर करा लेने को कहा है। प्रतियोगिता में अव्वल आने वाली सोसाइटी या सेक्टरों को पुरस्कृत भी किया जाएगा।

Translate »