April 11, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

चुनाव आयोग का ममता बनर्जी को कारण बताओ नोटिस

पश्चिम बंगाल में चुनावी घमासान जारी है। इन सबके बीच, बंगाल की मुख्यमंत्री मंत्री ममता बनर्जी को एलेक्शन कमिशन ने एक बार फिर नोटिस भेजा है, यह नोटिस उनके केंद्रीय बलों के ‘विरुद्ध’ भाषण देने के आरोप के मद्देनज़र भेजा गया है। साथ ही चुनाव आयोग ने तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो को अपने भाषण पर शनिवार 11 बजे तक जवाब दाखिल करने को कहा है। चुनाव आयोग का कहना है कि उनका भाषण आचार संहिता की कई धाराओं के उलंघन करता है।

बता दें कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने भाषण में मतदाताओं को सावधान रहने के लिए कहा था कि केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों के जवान गाँवों में लोगों वोट के लिए डराने-धमकाने पहुँच सकते हैं।
चुनाव आयोग की नोटिस मिलने के बाद ममता बनर्जी ने बीते दिन कहा कि वे साम्प्रदायिक आधार पर वोटरों को बाँटने के किसी भी प्रयास के ख़िलाफ़ अपनी आवाज़ उठती रहेंगी। साथ उन्होंने कहा था कि चाहे उन्हें 10 कारण बताओ नोटिस भेजे जाएँ, वे अपना रुख़ नहीं बदलेंगी।
ग़ौरतलब है कि हुगली ज़िले के बालागढ़ में गुरुवार को जनसभा को संबोधित करते हुए ममता ने आरोप लगाया था कि केंद्रीय बल ‘अमित शाह द्वारा संचालित केंद्रीय गृह मंत्रालय’ के निर्देशों पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों के प्रति सम्मान रखती हूं, लेकिन वे दिल्ली के निर्देशों पर काम कर रहे हैं। वे मतदान वाले दिन से पहले ग्रामीणों पर अत्याचार करते हैं। कुछ तो महिलाओं का उत्पीड़न कर रहे हैं। वे लोगों से भाजपा के लिए वोट करने को कह रहे हैं। हम ऐसा नहीं होने देंगे।”
Translate »