December 2, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

एनसीआर में प्रदूषण नियंत्रण के लिए कल होगी आपातकालीन बैठक, सुप्रीम कोर्ट ने कहा वर्क फ्रॉम होम पर विचार करें सरकार

एनसीआर में वायु प्रदूषण काफी तेजी के साथ फैलता जा रहा है। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जाहिर की है। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में बढ़ते प्रदूषण को लेकर सुनवाई हुई। जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार को फटकार लगाते हुए रणनीति तैयार करने के लिए कहा है।

 

Credit- LivLaw

 

दरअसल, राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि पराली जलाने के कारण एनसीआर में प्रदूषण फैल रहा है। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि, आपकी रिपोर्ट सही नहीं है। एनसीआर में प्रदूषण बढ़ने का कारण एकमात्र पराली नहीं है। पराली के कारण ही नहीं बल्कि अन्य कारणों से भी एनसीआर में प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है। इस पर सरकार ध्यान क्यों नहीं दे रही है।

सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि, पिछले करीब 9 दिनों से एनसीआर की हालत गंभीर होती जा रही है। लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ गई है। उसके बावजूद भी सरकार ने अभी तक जरूरी कदम क्यों नहीं उठाए हैं। सरकार ने प्रदूषण नियंत्रण के लिए अभी तक कोई भी फैसला नहीं लिया है। आखिर इसका कारण क्या है।

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार को आदेश दिया है कि, वह मंगलवार को एनसीआर के राज्यों की आपातकालीन बैठक बुलाई और प्रदूषण को रोकने के लिए अहम फैसला लें। अगली सुनवाई बुधवार को होगी। सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए साफ आदेश दिया है कि, अगली सुनवाई में उनको प्रदूषण रोकने के लिए विचार की पूरी रिपोर्ट चाहिए। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली समेत पूरे एनसीआर के राज्यों की आपातकालीन बैठक बुलाई है। केंद्र सरकार को अपनी रिपोर्ट बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के सामने पेश करनी होगी। इस बैठक में अहम फैसला हो सकता है। जिससे प्रदूषण को रोकथाम लगाई जाए।

Translate »