सियान टावर में विस्फोटक लगाने का काम पूरा, एपेक्स में 24 अगस्त तक लग जाएंगे विस्फोटक

by Priya Pandey
0 comment

सेक्टर 93A में ट्विन टावरों को गिराने के लिए एडिफिस कंपनी ने बुधवार को सियान टॉवर में चार्जिंग ( विस्फोटक) लगाने का पूरा हो गया। एपेक्स में चार्जिंग का काम 24 अगस्त तक पूरा कर लिया जाएगा। चार्जिंग की प्रक्रिया 13 अगस्त से शुरू हुई थी।

एडिफिस इंजीनियरिंग के प्रोजेक्ट मैनेजर मयूर मेहता ने बताया, “पिछले पांच दिनों में हमने एपेक्स टावर की तीन मंजिलों के अलावा 10 प्राथमिक और 7 सेकेंड्री मंजिल वाले सियान टावर को पूरा कर लिया है। इस टावर को पहले दिन पूरी तरह से कवर कर दिया गया था। अब एपेक्स की 24वीं और 22वीं मंजिल की चार्जिंग शुरू हो गई है।”

एडिफिस के अधिकारियों ने कहा, “चार्जिंग प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 15 दिनों की समय सीमा रखी गई है, फ्लोर पर काम करने वाली 16 टीमें एक-दो दिन पहले काम पूरा कर सकती हैं। 28 अगस्त को ट्विन टावरों को गिराया जाएगा। एपेक्स टावर में 11 प्राइमरी फ्लोर और 7 सेकेंडरी फ्लोर है। बेसमेंट के सभी तलों पर विस्फोटक और दूसरे बेसमेंट के 60% पिलर में विस्फोटक लगाए जाएंगे।”

एपेक्स में लगेगा अधिक समय
मयूर मेहता ने बताया, “सियान से ऊंचे एपेक्स टावर की चार्जिंग में कई कारणों से अधिक समय लगेगा। सबसे पहले, इसमें प्रति फ्लोर 110 पिलर है। दूसरा जैसे-जैसे नीचे की फ्लोर की चार्जिंग शुरू होगी, वहां विस्फोटक की मात्रा ज्यादा लगेगी। ऐसे में नीचे की मंजिल पर चार्जिंग में अधिक समय लगेगा। उन्होंने कहा, “इनमें से प्रत्येक मंजिल को चार्ज करने में लगभग एक दिन का समय लगेगा।”

यातायात प्रबंधन का काम पूरा
ट्रैफिक पुलिस ने ट्रैफिक मैनेजमेंट योजना को अंतिम रूप दे दिया है। जिसमें नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे के साथ विस्फोटक के दिन के लिए रूट डायवर्जन शामिल है। पुलिस ने कहा, “वे सेक्टर-37 के पास महामाया फ्लाई ओवर और सर्विस लेन सहित परी चौक के बीच एक्सप्रेस-वे को पूरी तरह से बंद करने पर विचार कर रहे हैं।

DCP (यातायात) गणेश प्रसाद साहा ने कहा, “विस्फोट में कुछ सेकंड लगेंगे। उसके बाद लगभग 10-15 मिनट में धूल के बादल होंगे। सुरक्षा कारणों से अतिरिक्त समय रखा गया है। धूल छटते ही एक्सप्रेस-वे को खोल दिया जाएगा।”

आंतरिक सड़कों को बंद कर रूट डायवर्ट किया
सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट के पास की आंतरिक सड़कों को भी बंद कर दिया जाएगा। जिससे कोई भी ट्विन टावर्स के पास न जाए। गणेश प्रसाद साहा साहा ने कहा, “एक्सप्रेसवे और कई आंतरिक सड़कों को बंद करने की सही समय में एक दो दिनों में तय की जाएगी।”

ये होगा रूट डायवर्जन
जहां तक ​​रूट डायवर्जन की बात है, तो महामाया फ्लाईओवर से वाहनों को सेक्टर 71, पार्थला चौक और किसान चौक और परी चौक से किसान चौक की ओर डायवर्ट किया जाएगा। सेक्टर 82 और 137 ट्रैफिक सिग्नल के पास डायवर्जन किया जाएगा, जबकि सेक्टर 93ए के आसपास के सभी प्रमुख चौराहों और सड़कों पर ट्रैफिक पुलिस तैनात की जाएगी।

About Post Author