September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

सुप्रीम कोर्ट में पहली बार 9 जजों ने ली शपथ, 2027 तक नागरत्ना बन सकती हैं पहली महिला चीफ जस्टिस

सुप्रीम कोर्ट में आज 9 जजों ने एकसाथ शपथ ली। सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब 9 जजों एकसाथ शपथ ली हो।

बता दें इनमें 3 महिला जज भी हैं। महिला जजों में से एक जस्टिस नागरत्ना भी हैं, जो 2027 में देश की पहली महिला चीफ जस्टिस बन सकती हैं।

सुप्रीम कोर्ट में शपथ लेने वाले 9 जजों के नाम इस प्रकार है।

1- जस्टिस बीवी नागरत्ना, 2- जस्टिस हिमा कोहली, 3- जस्टिस बेला त्रिवेदी, 4- जस्टिस अभय श्रीनिवास ओका, 5- जस्टिस विक्रम नाथ, 6- जस्टिस जितेंद्र कुमार माहेश्वरी, 7- जस्टिस पीएस नरसिम्हा, 8- जस्टिस एमएम सुंदरेश, 9- जस्टिस सीटी रवि

मिल सकती है पहली महिला चीफ जस्टिस

जस्टिस नागरत्ना 2008 में कर्नाटक हाईकोर्ट में एडिशनल जज नियुक्त की गई थीं। 2010 में उन्हें परमानेंट जज नियुक्त कर दिया गया। 2012 में फेक न्यूज के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए जस्टिस नागरत्ना और अन्य जजों ने केंद्र सरकार को निर्देश दिए थे कि वे मीडिया ब्रॉडकास्टिंग को रेगुलेट करने की संभावनाओं की जांच करें। लेकिन उन्होंने मीडिया पर सरकारी नियंत्रण के खतरों से भी आगाह किया था।

बार से सुप्रीम कोर्ट में अपॉइंट होने वाले पहले जज

जस्टिस पीएस नरसिम्हा बार से सुप्रीम कोर्ट में अपॉइंट होने वाले पहले जज हैं। बार से सीधे सुप्रीम कोर्ट में अपॉइंट होने वाले वे देश के नौंवें जज हैं और 2028 में चीफ जस्टिस भी बन सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो बार से अपॉइंट होने के बाद चीफ जस्टिस बनने वाले वे तीसरे न्यायाधीश होंगे। 2014 से 2018 तक एडिशनल सॉलिसिटर जनरल भी रह चुके हैं। इटली नौसेना मामले, जजों से जुड़े NJAC केस से भी जुड़े रहे। उन्हें BCCI के प्रशासनिक कार्यों से जुड़े विवादों को सुलझाने के लिए मध्यस्थ भी नियुक्त किया गया था।

Translate »