Monday, September 26, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

जिसके लिए पति ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट में बीवी, मासूम बच्चों और दोस्त को उतारा मौत के घाट, वो महिला पुलिसकर्मी गिरफ्तार

by MotherlandPost Desk
0 comment

अपनी बीवी और दो बच्चों की हत्या करने के बाद ग्रेटर नोएडा वेस्ट में जमीन के अंदर शव दफनाने वाले मामले में आरोपी पति के बाद अब प्रेमिका और महिला पुलिसकर्मी को भी कासगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

शुरुआती जांच में पता चला है कि, प्रेमिका महिला पुलिसकर्मी रूबी के दवाब बनाने पर ही राकेश ने अपनी पत्नी और दोनों मासूम बच्चों की हत्या की थी। इस मामले में कासगंज पुलिस ने अभी तक 6 लोगों को गिरफ्तार किया है।

उत्तर प्रदेश के कासगंज पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, इस मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी राकेश, उसकी प्रेमिका और उत्तर प्रदेश पुलिस में कॉन्स्टेबल के पद पर तैनात रूबी, राकेश का पिता बनवारी लाल, राकेश की मां इंदुमती, राकेश का भाई राजीव और प्रवेश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी की पत्नी, दोनों बच्चे और अपने दोस्त की हत्या करने वाले मामले में खुलासा करके सभी को जेल भेज दिया है।

क्या है मामला ?

एटा के रहने वाले बनवारी लाल ने अपने बेटे राकेश की शादी 2012 में एटा में ही रहने वाली रत्नेश नामक एक महिला से ही थी। लेकिन राकेश अपने गांव में ही रहने वाली रूबी से प्यार करता था और रूबी भी उसको बहुत प्यार करती थी। राकेश की शादी रत्नेश से हुई, फिर भी राकेश ने अपनी प्रेमिका रूबी से मिलना बंद नहीं किया। 2016 में रूबी उत्तर प्रदेश पुलिस में सिपाही बन गई। जिसकी तैनाती आगरा के ताजमहल में थी। रूबी लगातार राकेश पर शादी का दवाब बना रही थी। जिसके बाद राकेश ने इस वारदात को अंजाम दिया।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बिसरख कोतवाली क्षेत्र में स्थित चिपयाना बुजुर्ग में पंच विहार कॉलोनी में राकेश अपनी पत्नी रत्नेश और दो मासूम बच्चों के साथ रहता था। रत्नेश और राकेश में किसी ना किसी बात को लेकर लगातार लड़ाई झगड़ा होता रहता था। राकेश ने अपनी प्रेमिका से शादी रचाने के लिए घिनौनी वारदात को अंजाम दिया है।

राकेश ने 14 फरवरी 2018 को ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित अपने मकान में अपनी पत्नी और दोनों मासूम बच्चों की हत्या करके जमीन में गड्ढा खोदकर दफन कर दिया। उसके बाद ऊपर से सीमेंट का पक्का पलस्तर करवा दिया। आरोपी राकेश ने अपनी पत्नी और दोनों मासूम बच्चों की हत्या करने के बाद 25 अप्रैल 2021 को अपने दोस्त की भी हत्या कर दी।

आरोपी राकेश की कोशिश थी कि वह अपने दोस्त की हत्या करने के बाद उसके शव के पास अपना आधार कार्ड और अन्य दस्तावेज रखकर पुलिस को अंधेरे में धकेल दें। इसके लिए राकेश ने अपने दोस्त की हत्या करने के बाद उसके शव के पास अपना आधार कार्ड और अन्य दस्तावेज रख दिया। जिसके बाद वह सबसे छुपकर रहने लगा। लेकिन कानून के हाथ से राकेश बच नहीं पाया। पत्नी और बच्चों के लापता होने की सूचना और दोस्त की हत्या करने के बाद उसके शव के पास से राकेश का आधार कार्ड मिलना पुलिस को पचा नहीं। पुलिस ने राकेश की तलाश करते हुए उसको एटा से ही गिरफ्तार कर लिया।

About Post Author