September 25, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

1970 से लगातार 48 साल तक एमएलसी रहे ओमप्रकाश शर्मा का निधन, इस बार ग्रेटर नोएडा के श्रीचंद शर्मा …

भारत के दिग्गज नेताओं में शामिल शिक्षक नेता और पूर्व शिक्षक एमएलसी ओमप्रकाश शर्मा का शनिवार की रात करीब 9:00 बजे निधन हो गया है। ओमप्रकाश शर्मा शिक्षक नेता के रूप में एक इतिहास बनकर उभरे हैं। वह पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। इसके चलते 87 साल की उम्र में उनका निधन हो गया है।
ओमप्रकाश शर्मा इस समय मेरठ में स्थित शास्त्री नगर में रहते थे। 1970 में पहली बार वह निर्दलीय मेरठ सहारनपुर एमएलसी चुनाव लड़े थे। जिसमें वह भारी मतों से जीते थे। तब से लगातार वह 8 बार शिक्षक एमएलसी के पद पर जीतते रहे थे। लगातार 48 साल तक उन्होंने शिक्षक एमएलसी के पद पर राज किया है। इस दौरान उन्होंने शिक्षकों की काफी परेशानियों का समाधान करवाया था। लगातार 48 साल तक एमएलसी पद पर रहना अपने आप में एक ऐतिहासिक नाम है।
ओमप्रकाश शर्मा के निधन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, ओमप्रकाश शर्मा वरिष्ठ एवं अनुभवी शिक्षक नेता थे। वे शिक्षक कल्याण और शिक्षा जगत के लिए सदैव तत्पर रहे। उनके निधन से शिक्षा जगत को अपूरणीय क्षति हुई है।

मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शान्ति के लिए प्रार्थना करते हुए स्वर्गवासी ओमप्रकाश शर्मा के शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है।आपको बता दें कि ओमप्रकाश शर्मा ने पहली बार 37 साल की उम्र में मेरठ सहारनपुर शिक्षक सीट पर एमएलसी के चुनाव लड़ा था और कुल 37 साल की उम्र में ही वह एमएलसी शिक्षक बने थे। ओमप्रकाश शर्मा की एक बेटी शांता स्कूल में प्रिंसिपल के पद पर हैं। दूसरी बेटी नोएडा में एक जूनियर हाई स्कूल में शिक्षिका के पद पर कार्यरत है।

Facebook


Twitter


Youtube

Translate »