April 11, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

बंद पड़ी कपड़ों की इंटरनेशनल कंपनी से 22 लाख रुपए का सामान चोरी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, जाने कैसे देते थे वारदात को अंजाम

नोएडा पुलिस ने एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है, जो बंद पड़ी फैक्ट्रियों को अपना निशाना बनाते थे। यह बदमाश अभी तक एक ब्रांडेड कपड़ों की कंपनी से 22 लाख रुपए का सामान चुरा चुके है। पुलिस ने गैंग का पर्दाफाश करते हुए 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों ने कुछ दिनों पहले नोएडा के सेक्टर 62 में स्थित एक कंपनी को निशाना बनाया था।
नोएडा के डीसीपी ने बताया कि, इन बदमाशों ने नोएडा के सेक्टर-63 में स्थित EBIZ.COM PVT LTD नामक कंपनी को निशाना बनाया था। इस कंपनी को जीएसटी विभाग द्वारा कुछ समय पहले सील कर दिया था। इन बदमाशों ने इस कंपनी के बराबर वाली कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड चंद्र मोहन से दोस्ती कर ली थी। चंद्र मोहन दिन के समय में नौकरी करता था और रात के समय में बराबर में बंद पड़ी नामी-गिरामी कंपनी की रेकी करता था।
बदमाशों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि रात के समय में उन्होंने EBIZ.COM PVT LTD से चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। वारदात को अंजाम देते समय उनके गैंग के दो व्यक्ति कंपनी के बाहर घूम रहे थे। जैसे ही रोड सुनसान हुआ। वैसे ही यह बदमाश कंपनी से सामान चुराकर बाहर आ गए और बाइक पर बैठकर मौके से फरार हो गए थे।
बदमाशों ने बताया कि वह पिछले करीब 6 महीनों से इस अपराध को अंजाम दे रहे थे। नामी कपड़ों की कंपनी से सामान चोरी करके वह थोक मार्केट और साप्ताहिक बाजार में कपड़े को लाखों रूपये बेच देते है। AGAMYA ब्राण्ड़ एक इण्टरनेशनल ब्राण्ड़ है। जिसका विदेशो में आयात निर्यात किया जाता है। गैग का सरगना समीर द्विवेदी है। जो बंद पड़ी फैक्टरी को ही टारगेट करके गार्डों की मदद से चोरियां करता है।
पुलिस ने गैंग के सात बदमाशों को गिरफ्तार किया है। जिनकी पहचान करण निवासी बिहार हाल पता गाजियाबाद, सुभाष निवासी हरदोई, अंकुर निवासी आगरा, अजय निवासी बिहार चंद्र मोहन निवासी फर्रुखाबाद और दानिश, निवासी बुलंदशहर को गिरफ्तार किया है। यह सभी बदमाश फिलहाल एनसीआर में ही रह रहे थे।
Translate »