November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

गौतम बुद्ध नगर की पूर्व चेयरमैन के पति गजराज नागर पर उनके ही पार्टनर्स ने करवाया मुकदमा दर्ज, करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी का आरोप

गौतम बुद्ध नगर के पूर्व जिला पंचायत चेयरमैन और वर्तमान जिला पंचायत सदस्य जयवती नागर के पति गजराज सिंह नागर पर देहरादून में फर्जी दस्तावेज पर दस्तखत कर करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी करने का मुकदमा दर्ज हुआ है। यह मुकदमा उन्होंने ही दर्ज करवाया है। जो गजराज सिंह नागर के साथी है।

 

 

आरोप है कि गजराज सिंह ने आईएसपी कंपनी में अपने अन्य पार्टनर्स हातम सिंह, ईश्वर सिंह और अशोक कुमार के साथ करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की है। इस मामले में बीते 23 जुलाई 2021 को देहरादून में एक मुकदमा दर्ज किया गया है। यह मुकदमा गजराज सिंह नागर पर अपने पार्टनर्स के नाम से फर्जी दस्तखत कर फर्जी दस्तावेज बनाए और उन्हें करोड़ो की धोखाधड़ी में प्रयोग किया है।

आरोप है कि गजराज सिंह ने अपने निजी फायदे के लिए आईएसपी कम्पनी के अन्य डायरेक्टर्स हातम सिंह, ईश्वर सिंह और अशोक कुमार की बिना सहमति के बैंकों में कम्पनी की जमीनें गारंटी के रूप में जमा कर करोड़ों रुपए का धोखा भी कर चुका है। आईएसपी कम्पनी के गठन के समय तो उपरोक्त सभी चारों डायरेक्टर्स 25 प्रतिशत प्रत्येक के शेयर होल्डर्स थे। गजराज सिंह ने बिना कम्पनी के अन्य डायरेक्टर्स की अनुमति के फर्जी तरीके से अपने शेयर कम्पनी में बढ़ा लिए।

आरोप है कि गजराज सिंह ने बदले की भावना से और तथ्यों को छुपा कर अपने पार्टनर्स हातम सिंह, ईश्वर सिंह और अशोक कुमार के विरुद्ध झूठा मुकदमा दर्ज कराया है। 28 अक्टूबर को पंजीकृत हुआ मुकदमा झूठे तथ्यों और मनगढ़ंत घटना पर आधारित है।

ऐसा अनुमान है कि गजराज सिंह ने मुकदमा थाना बिसरख क्षेत्राधिकार में दर्ज करने हेतु धमकी की मनगढ़त घटना का कारित होना बताया है। हातम सिंह, ईश्वर सिंह और अशोक कुमार का आरोप है कि मेरे उपर जो भी मुकदमा दर्ज कराया गया है वह पूरी तरह से झूठा है। अब पुलिस नए सिरे से मामले की जांच करेगी।

Translate »