January 21, 2022

MotherlandPost

Truth Always Wins!

नोएडा के फ्लैट खरीदारों के लिए खुशी की खबर, अब कवर्ड एरिया नहीं कॉरपेट एरिया के हिसाब से होगी रजिस्ट्री

नोएडा के फ्लैट खरीदारों के लिए खुशी की खबर सामने आ रही है। अब नोएडा के फ्लैट खरीदारों को रजिस्ट्री करवाने में आसानी होगी। नोएडा में फ्लैट खरीदारों की रजिस्ट्री कवर्ड एरिया के हिसाब से नहीं बल्कि कॉरपेट एरिया के हिसाब से होगी। यह आदेश ऋतु महेश्वरी ने दे दिए है।

 

 

 

नोएडा प्राधिकरण और यूपी रेरा ने नोएडा वासियों को इस नव वर्ष पर एक अच्छा तोहफा दिया है। इसके अलावा नोएडा के बिल्डरों को बड़ा झटका मिला है। अब नोएडा में फ्लैट खरीदा कॉरपेट एरिया के हिसाब से रजिस्ट्री करवाएंगे।नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी ने यूपी रेरा के निर्देश के बाद यह आदेश दिए हैं। यह व्यवस्था यूपी रेरा ने एक्ट 2016 के अनुसार लागू की है। इस संबंध में नोएडा के अधिकारियों ने गौतम बुद्ध नगर के डीएम सुहास एलवाई को पत्र लिखकर मामले की जानकारी दी है।

 

क्या होता है कारपेट एरिया

कारपेट एरिया वह होता है, जो घर के भीतर कारपेट फैलाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यही अपार्टमेंट में इस्तेमाल होने वाला असली क्षेत्र होता है। इसमें दीवार की मोटाई, बालकनी या छत शामिल नहीं होती। तकनीकी रूप से भीतर की दीवारों के बीच की दूरी कारपेट एरिया कहलाती है।

इसके अलावा इसमें सीढ़ियां भी शामिल होंगी, अगर वह घर के अंदर हैं तो। मगर लॉबी, लिफ्ट, बालकनी इत्यादि को कारपेट एरिया में शामिल नहीं किया जाएगा। कारपेट एरिया का पता लगाने के लिए अपार्टमेंट के कुल क्षेत्र से दीवार की आंतरिक मोटाई को घटाना पड़ता है।

Translate »