September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

सरकार ने जारी की एडवाइजरी, बताया कोरोना के बीच कैसे मनाई जाएगी ईद और दिवाली

गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश अबतक कोरोना की दूसरी लहर से बाहर नहीं निकल सका है और ऐसे में लोगों को त्योहारों में सावधानी बरतनी चाहिए।

 

Credit- WHO

 

इस बाबत नीति आयोगे के सदस्य और कोविड-19 टास्क फ़ोर्स के प्रमुख डॉ. वीके पॉल ने कहा, “गणेश चतुर्थी, दिवाली और ईद आने वाले हैं। इस साल भी, पिछले साल की तरह उन्हें प्रतिबंधात्मक तरीके से मनाने की आवश्यकता होगी और हम सभी से घर पर रहने की अपील करते हैं।”

समाचार ब्रीफिंग में बोलते हुए उन्होंने कहा, “पिछले साल की तरह, त्योहारों को कम तरीके से मनाया जाना चाहिए। किसी भी सार्वजनिक स्थान पर मास्क पहनना अनिवार्य है।”

बता दें कि भारत में अबतक 16 फ़ीसद वयस्क आबादी को वैक्सीन की की दोनों डोज़ मिल चुकी है, इसके अलावा 54 फ़ीसद लोगों को टीके की कम से कम एक ख़ुराक दी जा चुकी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि लोगों को ये त्योहार घर पर मनाने चाहिए। वे कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करें और टीकाकरण करवाएं। इसके साथ ही भारत में कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट के लगभग 300 मामले अब तक सामने आए हैं।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव ने कहा, “हम अभी भी COVID-19 की दूसरी लहर में हैं और इसलिए देश में सभी से अपील करते हैं कि अपने क्षेत्र में सभी कोविड प्रतिबंधों को जारी रखें। COVID-19 SOPs (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर) का पालन करें और कोविड-उपयुक्त व्यवहार बनाए रखें।”

ग़ौरतलब है कि गुरुवार को देश में दो महीनों में COVID-19 मामलों में एक दिन में सबसे ज़्यादा वृद्धि हुई है। घनी आबादी वाला केरल 47,092 नए संक्रमणों में से लगभग 70 प्रतिशत और मौतों का एक तिहाई हिस्सा है।

Translate »