Tuesday, August 9, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस: लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए ग्रेनो प्राधिकरण दिलाएगा विशेष प्रशिक्षण एवं रोज़गार

by Disha
0 comment

ग्रेटर नोएडा: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर प्राधिकरण ने ग्रेटर नोएडा की लड़कियों को रोजगार देकर आत्मनिर्भर बनाने की खास मुहिम शुरू करने जा रहा है। प्राधिकरण लड़कियों को हुनरमंद बनाने के लिए दो निजी संस्थाओं के साथ मिलकर विशेष प्रशिक्षण प्रोग्राम चलाएगा। ट्रेनिंग के बाद उनको नौकरी दिलाने में भी मदद की जाएगी। इसके साथ ही आगामी 22 मार्च को कौशल प्रशिक्षण मेला भी आयोजित करने जा रहा है।

 

 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने मंगलवार को आधार हाउसिंग फाइनेंस व वाई 4 डी संस्था के साथ बैठक की। आधार हाउसिंग फाइनेंस अपने सीएसआर (कार्पोरेट सोशल रेस्पोंसबिलिटी) फंड के जरिए विशेष प्रशिक्षण प्रोग्राम व कौशल प्रशिक्षण मेले का खर्च वहन करेगा। इसे ग्रेटर नोएडा आधार कौशल ट्रेनिंग प्रोग्राम नाम दिया गया है। इस ट्रेनिंग प्रोग्राम के जरिए पहले फेज में पांच बैच से करीब 250 लड़िकयों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसका सेंटर एनआईएमटी कॉलेज में बनाया जाएगा। यह विशेष ट्रेनिंग प्रोग्राम दो माह का होगा। एक माह के लिए कैंपस ट्रेनिंग और एक माह कंपनियों में प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। आगामी अप्रैल माह से इसकी शुरुआत करने की तैयारी है। लड़कियों को इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनियों में मैनुअल इनसरसन (मैनुअल प्रविष्टि) में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

प्रशिक्षण के दौरान लड़कियों को हॉस्टल की भी सुविधा दी जाएगी। उसके बाद रोजगार दिलाने की भी कोशिश की जाएगी। यह पूरा ट्रेनिंग प्रोग्राम निशुल्क होगा। इसके लिए आधार हाउसिंग ने नोएडा-ग्रेटर नोएडा की कई कंपनियों से टाइ-अप पहले ही कर रखा है। सीईओ नरेंद्र भूषण ने आधार हाउसिंग से लड़कियों के साथ ही स्थानीय युवाओं को भी रोजगार दिलाने के लिए विशेष ट्रेनिंग प्रोग्राम चलाने को कहा है।

आधार हाउसिंग भी इसके लिए तैयार हो गया है। युवाओं को इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनियों में सहायक ऑपरेटर के लिए प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। इसके साथ ही प्राधिकरण ने आधार हाउसिंग व वाई 4 डी के साथ मिलकर 22 मार्च को ग्रेटर नोएडा आधार कौशल प्रशिक्षण मेला भी आयोजित कराने का निर्णय लिया है। आयोजन स्थल चयनित किया जा रहा है। बैठक में ओएसडी सचिन कुमार सिंह, जीएम प्रोजेक्ट एके अरोड़ा, डीजीएम सीके त्रिपाठी व प्रबंधक वैभव नागर और आधार हाउसिंग व वाई 4 डी संस्था के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

1170 युवाओं को दिलाया जा रहा प्रशिक्षण व रोजगार

प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण की कोशिशों से बीते साल एनएसडीसी (राष्ट्रीय कौशल विकास निगम) की तरफ से देश में सबसे पहले ग्रेटर नोएडा के सेक्टर अल्फा वन स्थित ट्रेडिक्स टावर में शुरू किया गया था। इस प्रशिक्षण केंद्र में इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। दूसरा केंद्र, गवर्नमेंट प्राइमरी स्कूल, मुबारकपुर में शुरू हुआ। इस सेंटर में टेलीकॉम सेक्टर में युवाओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

तीसरा केंद्र नॉलेज पार्क थ्री में खोला गया। इस प्रशिक्षण केंद्र में ऑटोमोबाइल सेक्टर में छात्रों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है और अब चौथा केंद्र नोएडा आईटीआई , मेन रोड चिपियाना बुजुर्ग में शुरू हुआ । यहां इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर में छात्रों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस तरह प्रस्तावित छह ट्रेनिंग सेंटरों में से अब तक चार केंद्र खोले जा चुके हैं। इन छह केंद्रों पर कुल 1170 युवाओं को रोजगार के लिए प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है। प्रशिक्षण प्राप्त अधिकांश युवाओं को रोजगार भी मिल चुके हैं। सीईओ ने आगामी वित्तीय वर्ष में और भी अधिक युवाओं को प्रशिक्षण दिलाकर रोजगार से दिलाने की बात कही है।

रंग ला रही यूपीएसडीएम संग भी रोजगार की पहल

स्थानीय युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन की संयुक्त पहल भी खूब रंग ला रही है। बीते साल सूरजपुर में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण, जिला प्रशासन और उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन की संयुक्त पहल पर रोजगार प्रशिक्षण मेला आयोजित किया गया था। उस समय तो करीब 720 छात्रों ने ही प्रशिक्षण के लिए पंजीकरण कराया था, लेकिन प्रशिक्षण प्राप्त करने के इच्छुक युवाओं की संख्या अब बढ़ रही है। अब तक करीब 1122 आवेदन प्राप्त हो चुके हैं। इन छात्रों को उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन के ट्रेनिंग पार्टनर्स के जरिए प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है।

 

आईआईटीजीएनएल टाउनशिप में बनेगा विश्वस्तरीय स्किल डेवलपमेंट सेंटर

स्थानीय युवाओं को विश्वस्तरीय स्किल डेवलमेंट सेंटर में प्रशिक्षण और रोजगार पाने का मौका जल्द मिल सकता है। आईआईटीजीएनएल (इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल टाउनशिप ग्रेटर नोएडा लिमिटेड) की इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल टाउनशिप में विश्वस्तरीय स्किल डेवलपमेंट सेंटर बनाने की तैयारी शुरू हो गई है। आईआईटीजीएनएल, एनएसडीसी (राष्ट्रीय कौशल विकास निगम) व एनआईसीडीसी (नेशनल इंडस्ट्रियल कॉरिडोर डेवलपमेंट कार्पोरेशन) के सहयोग से बनने वाले इस सेंटर में यहां की कंपनियों की जरूरत के हिसाब से युवाओं को अलग-अलग ट्रेड में हुनरमंद बनाया जाएगा। शोध से जुड़े कार्य भी होंगे।

इस सेंटर के लिए जमीन व इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने का जिम्मा आईआईटीजीएनएल पर होगा, जबकि एनएसडीसी इसकी तकनीकी पार्टनर होगी। दिल्ली मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के तहत आने वाले सभी राज्यों में इसी तरह का विश्वस्तरीय स्किल डेवलपमेंट सेंटर बनाने की योजना है। इसका मॉड्यूल तय करने पर विचार-विमर्श चल रहा है।

About Post Author