May 14, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

सुप्रीम कोर्ट के 50 फ़ीसद कर्मचारी कोरोना पॉज़िटिव, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए होगी सुनवाई

कोरोना वायरस की दूसरी लहर अब बेलगाम होती जा रही है। देशभर में बीते तक़रीबन एक हफ़्ते से रोज़ नए मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी हो रही है। देश के हर क्षेत्र में इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता नज़र आ रहा है। इसी बीच सुप्रीम कोर्ट में भी कोरोना ने अपना कहर दिखा रहा है। देश की शीर्ष अदालत में क़रीब 50 प्रतिशत कर्मचारी कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए हैं।

ऐसे में इन परिस्थितियों को देखते हुए  शीर्ष न्यायालय के सभी जज वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के ज़रिये अपने घर से ही सुनवाई करेंगे। साथ ही कोर्ट को सैनेटाइज़ करने का काम भी चल रहा है।
इस बीच, सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस डीवाई चंद्रचूड ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण सुप्रीम कोर्ट का कामकाज प्रभावित नहीं होगा।
ख़बरों के अनुसार, संक्रमण के मामले सामने आने के बाद पूरे कोर्ट रूम और कोर्ट परिसर को सैनेटाइज़ किया जा रहा है, इसके चलते सोमवार को सभी बेंच एक घण्टे की देरी से बैठेंगी।
50 फ़ीसद लोगों के कोरोना से संक्रमित होने के बाद सुप्रीम कोर्ट के अधिकारियों ने कहा है कि स्थिती चिंताजनक नहीं है। उन्होंने कहा कि 90 कर्मचारियों के टेस्ट किये गए थे जिनमें से 44 लोग पॉज़िटिव पाए गए हैं। इससे जजों के बीच पैनिक क्रिएट हुआ है।
सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस डीवाई चंद्रचूड ने समाचार एजेंसी NDTV से कहा कि ‘महामारी के चलते सुप्रीम कोर्ट में न्यायिक कामकाज प्रभावित नहीं होगा। सुप्रीम कोर्ट में वीडियो कांफ्रेसिंग के लिए 1600 लिंक मौजूद हैं। अदालत में न्यायिक कामकाज के लिए संसाधन मौजूद हैं। 16 बेंच सुनवाई कर रही हैं। उन्होंने कहा कि अब सारी फ़ाइलें इलैक्ट्रानिक रूप में हैं। फ़ाइलों को इधर-उधर ले जाने की ज़रूरत नहीं है।’
बता दें कि कोरोना वायरस के रोज़ आते नए मामले, नया रिकॉर्ड भी बना रहे हैं। सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किए गए पिछले 24 घंटे के आँकड़ों के मुताबिक़ देशभर में 1,68,912 संक्रमण के मामले सामने आए हैं, जो एक दिन में आने वाले सबसे ज़्यादा मामले हैं।
इन आँकड़ों के साथ ही देश में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 1,35,27,717 हो गए हैं। इसके साथ ही पिछले24 घंटों में 904 मारीज़ों की मौत हुई है और भारत में इस वायरस से मरने वालों की संख्या 1,70,179 हो गयी है।
वायरस से सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्यों में महाराष्ट्र शीर्ष पर है, जिसके बाद दिल्ली, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, पंजाब, उत्तर प्रदेश शामिल हैं। बढ़ते संक्रमण के मामलों के बीच कई राज्यों में कई ऐहतियाती क़दम उठाये गए हैं जिसमें नाईट कर्फ्यू समेत कई और पाबंदियाँ शामिल हैं।
Translate »