October 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

‘वे किसी प्रकार के दबाव में थे, उन्हें अपने फ़ैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए’ – हरीश रावत

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और पंजाब में कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस द्वारा अमरिंदर सिंह का अपमान किए जाने की ख़बरों में कोई सच्चाई नहीं है।

 

Harish Rawat/twitter

 

रावत, जिन्होंने पिछले कुछ हफ़्तों में इस राजनीतिक उथलपुथल को शांत करने के लिए कई दौरे किये थे, ने कहा कि ‘सिंह के हालिया बयानों से ऐसा लगता है कि वह किसी प्रकार के दबाव में थे। उन्हें पुनर्विचार करना चाहिए और किसी भी तरह से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मदद नहीं करनी चाहिए।’

रावत के बयान के एक दिन बाद सिंह ने स्पष्ट रूप से कहा कि वह कांग्रेस छोड़ देंगे क्योंकि उन्हें काफ़ी अपमानित किया गया है।

 

‘अपमान की थ्योरी ग़लत’

सिंह ने यह टिप्पणी दिल्ली की दो दिवसीय यात्रा के दौरान की।देहरादून में पत्रकारों से बातचीत में रावत ने कहा, ‘अमरिंदर सिंह के अपमान की थ्योरी पूरी तरह ग़लत है। अमित शाह और अन्य भाजपा नेताओं के साथ उनकी बैठकें उनकी धर्मनिरपेक्ष साख पर सवाल उठा रही हैं जो इन सभी वर्षों में हमेशा उनकी राजनीति का मूल रहा है। बीजेपी उन्हें पंजाब में अपना मुखौटा बनाने की कोशिश कर रही है जो उनका कद नहीं है।’

उन्होंने आगे कहा कि पंजाब में कांग्रेस विधायक पिछली अकाली दल सरकार के शासनकाल के दौरान हुए बेअदबी के मामले में कोई कार्रवाई नहीं करने के लिए सिंह से बहुत नाराज़ थे।

रावत ने समाचार एजेंसी एएनआई के हवाले से कहा कि कांग्रेस पार्टी ने अब तक कैप्टन अमरिंदर सिंह के सम्मान की रक्षा के लिए और पंजाब में (2022 विधानसभा चुनावों में) पार्टी की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए जो किया है, जो ज़रूरी था वह सब किया है।

ग़ौरतलब है कि पंजाब में संकट से निपटने के लिए पार्टी के भीतर और बाहर से केंद्रीय कांग्रेस नेतृत्व पर हमला किया गया है, जहां कुछ ही महीनों में विधानसभा चुनाव होने हैं।

Translate »