बृजभूषण सिंह के खिलाफ पॉक्सो केस में हुई सुनवाई, कोर्ट ने नाबालिग पहलवान और उसके पिता से मांगा जवाब

by Priya Pandey
0 comment

भारतीय कुश्ती महासंघ के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ कथित नाबालिग महिला पहलवान द्वारा दायर पॉक्सो केस पर दिल्ली स्थित पटियाला हाउस कोर्ट की पॉक्सो कोर्ट में मंगलवार को सुनवाई हुई। कैंसिलेशन रिपोर्ट पर चर्चा के बाद कोर्ट ने बयान बदलने पर नाबालिग पहलवान और उसके पिता को नोटिस जारी कर बयान बदलने की वजह पूछी है। कोर्ट ने 1 अगस्त तक जवाब मांगा है।इस दौरान जज ने कहा कि कोर्ट नाबालिग का पक्ष जनना चाहता है। नाबालिग के पक्ष आने के बाद ही कोर्ट केस को रद्द करने पर फैसला लेगा।दरअसल पॉक्सो कोर्ट में एडिशनल सेशल जज छवि कपूर ने दिल्ली पुलिस की कैंसिलेशन रिपोर्ट पर सुनवाई करते हुए कहा कि नाबालिग का पक्ष जानने के बाद ही कोर्ट इस केस को रद्द करने पर फैसला ले सकता है।

दिल्ली पुलिस ने नाबालिग पहलवान से जुड़े इस मामले में 15 जून को अंतिम रिपोर्ट जमा की थी, जिसमें बृजभूषण के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप में दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने का अनुरोध किया गया था। ऐसी रिपोर्ट उन मामलों में दायर की जाती है, जिनमें पुलिस उचित जांच के बाद पुष्ट साक्ष्य ढूंढने में विफल रहती है।

इस मामले में भी पुलिस ने नाबालिग पहलवान द्वारा बृजभूषण के खिलाफ दर्ज कराई गई शिकायत को रद्द करने की सिफारिश करते हुए कहा था कि उसे ‘कोई पुख्ता सबूत नहीं’ मिले। दिल्ली पुलिस की जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) सुमन नालवा ने इस संबंध में एक बयान जारी कर बताया था कि पॉक्सो मामले में शिकायतकर्ता यानी नाबालिग के पिता तथा स्वयं लड़की के बयानों के आधार पर मामले को रद्द करने का अनुरोध करने वाली रिपोर्ट दाखिल की गई।

About Post Author