जानें फीचर्स फोन से कैसे कर सकते है यूपीआई पैमेंट?

by Disha
0 comment

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने मंगलवार को डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म की दिशा में UPI”123PAY” सर्विस को लांच किया और इमरजेंसी पेमेंट के लिए 24×7 हेल्पलाइन भी लांच किया है. इस इमरजेंसी हेल्पलाइन का नाम “डिजीसाथी” है.यूपीआई यानी यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस को देश में लोकप्रिय पेमेंट ट्रांसेक्शन कर पर्याय माना जाता है. इन दोनों सर्विस को लाने का इशारा आरबीआई गवर्नर ने पिछली साल के अंत में ही दे दिया था. इसके बाद से ही यूजर्स को इन दोनों सर्विस को लेकर उत्साहित थे.

 

 

UPI”123PAY” सर्विस के माध्यम से देश में फीचर्स फोन को नई सौगात मिली है. इस सर्विस से कीपैड या अन्य नॉन एंड्रॉयड मोबाइल के ज़रिए यूपीआई पेमेंट की सुविधा का लाभ उठाया जा सकता है. इसके लिए फीचर्स फोन में यूपीआई सर्विस के विकल्प को जोड़ा जाएगा. इस सर्विस की खासियत ये है कि डिजिटल लेनदेन के लिए इंटरनेट की जरूरत नहीं पड़ेगी.
इसके अलावा दूसरी हेल्पलाइन सर्विस लांच के माध्यम से चौबीस घंटे डिजिटल पेमेंट की सुविधा को पुख्ता करना और लेनदेन को सुगम बनाने पर जोर दिया गया है. इस सर्विस से यूजर्स कॉल या मिस्ड कॉल के माध्यम से पेमेंट संबधी समस्याओं का निस्तारण कर सकते हैं.

फीचर्स फोन के जरिए बिना इंटरनेट कर सकेगे लेनदेन

भारत में फीचर्स फोन के माध्यम से लेनदेन की व्यवस्था से तकरीबन 40 करोड़ यूजर्स को लाभ मिलेगा. इस विकल्प के आने से लोगों का डिजिटल पेमेंट की तरफ झुकाव और उत्साह बढ़ेगा.
इस सर्विस को बिना इन्टरनेट कनेक्शन के ज़रिए इस्तेमाल में लाया जाएगा. स्कैन के साथ पेमेंट करने की व्यवस्था को फिलहाल इस सर्विस में नही जोड़ा गया है. इस सुविधा के इस्तेमाल के लिए संबधित मोबाइल नंबर और बैंक खाते का लिंक होना जरूरी है. आरबीआई ने बताया कि फीचर्स फोन चलाने वाले लेनदेन को चार तरीके से इस्तेमाल में ला सकते हैं. पहला इंटरैक्टिव वॉयस रिस्पांस यानी आईवीआर पर कॉल के माध्यम से, दूसरा फीचर्स फोन में सर्विस का यूज करके, तीसरा मिस्ड कॉल और साउंड बेस आधारित भुगतान के माध्यम से लेनदेन कर सकेगे.

आरबीआई का मानना हैं कि इस सर्विस के माध्यम से इन्टरनेट कनेक्टिविटी पर निर्भरता से निजात मिलेगी और लोगों को पेमेंट करने का विकल्प मिलेगा. इससे पहले बड़ी आबादी इस तरह की सुविधा से इंटरनेट कनेक्टिविटी ना होने और फीचर्स फोन होने की वज़ह से दूर थी. ट्राई के 2021 के आंकड़ों के अनुसार 118 मोबाइल फ़ोन यूजर्स में से 74 करोड़ स्मार्टफोन यूजर्स है बाकी 40 करोड़ से ऊपर यूजर्स अभी भी फीचर्स फोन का इस्तेमाल करते हैं.
आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत का मानना है कि सुविधा के आने के बाद यूपीआई पेमेंट का दायरा बढ़ेगा. आरबीआई की रिपोर्ट के अनुसार यूपीआई का दायरा 2021 में 41 लाख करोड़ और 2022 में 76 लाख करोड़ तक पहुंच गया है.
इस सर्विस से जुड़ी किसी भी समस्या के लिए www.digisaathi.info परे विजिट कर सकते है और 14431 या 1800 891 3333 पर कॉल कर अपनी समस्या का निवारण कर सकते हैं.

लेखक: गौरव मिश्र

About Post Author