October 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

‘धर्मांतरण कैसे हो जाता है? जो लोग ऐसा कर रहे हैं वे ग़लत हैं’ – RSS प्रमुख मोहन भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि युवा हिंदू लड़कियों और लड़कों का धर्म परिवर्तन ग़लत है और उन्हें अपने धर्म और परंपराओं पर गर्व करने की ज़रूरत है।

 

 

“धर्मांतरण कैसे हो जाता है? हिंदू लड़कियां और लड़के छोटे-छोटे स्वार्थ के लिए, शादी के लिए दूसरे धर्मों को कैसे अपनाते हैं? जो लोग ऐसा कर रहे हैं वे ग़लत हैं। क्या हम अपने बच्चों का पालन-पोषण नहीं करते हैं? हमें उन्हें ये मूल्य देने की ज़रूरत है।”

भागवत ने रविवार को उत्तराखंड के हल्द्वानी में एक कार्यक्रम में आरएसएस कार्यकर्ताओं और उनके परिवारों को संबोधित करते हुए कहा, “हमें अपने लिए, अपने धर्म और पूजा की परंपरा के प्रति सम्मान के लिए उनमें गर्व पैदा करने की ज़रूरत है।”

उन्होंने लोगों से इस संबंध में बिना भ्रमित हुए सवालों के जवाब देने का आग्रह किया। भागवत ने कहा, “यदि प्रश्न आते हैं तो उनका उत्तर दें। भ्रमित न हों। हमें अपने बच्चों को तैयार करना चाहिए और इसके लिए हमें सीखने की ज़रूरत है।”

आरएसएस प्रमुख ने पारंपरिक पारिवारिक मूल्यों और परंपराओं को संरक्षित करने की बात कही। उन्होंने लोगों से भारतीय पर्यटन स्थलों का दौरा करने, घर में बने भोजन का सेवन करने और पारंपरिक पोशाक पहनने का भी आग्रह किया।

 

“जब हिंदू जागेंगे, तो दुनियां जागेगी”

भागवत ने कहा कि भारतीय संस्कृति की जड़ों से जुड़े रहने के लिए 6 मंत्र हैं जिनमें भाषा, भोजन, भक्ति गीत, यात्रा, पोशाक और घर शामिल हैं। जहां उन्होंने लोगों से पारंपरिक रीति-रिवाज़ों का पालन करने की अपील की, वहीं उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि अस्पृश्यता जैसे नापाक रिवाज़ों को छोड़ देना चाहिए।

उन्होंने कहा, “जाति के आधार पर भेदभाव न करें। छुआछूत नहीं होनी चाहिए। समाज को नामों से धर्म का अनुमान लगाने की आदत है। लोगों के भेदभाव को दिल से पूरी तरह से हटा देना चाहिए।”

उन्होंने लोगों से इन मामलों पर चर्चा करने के लिए कहा, जिसमें पानी बचाने से संबंधित पर्यावरणीय मुद्दों और अधिक पौधे लगाने शामिल हैं। आरएसएस प्रमुख ने कहा, “जब हिंदू जागेंगे, तो दुनिया जागेगी।”

Translate »