October 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

ICMR ने चेताया दो हफ़्ते पहले आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर

तीसरी लहर के संभावित खतरे के बीच, भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने पर्यटन समृद्ध राज्यों-हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और अन्य को कोरोनावायरस के प्रसार से निपटने के लिए प्रोटोकॉल लागू करने के लिए कहा है।

 

Coronavirus/Reuters

 

इसके अलावा, उसने इन राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में पहुंचने वालों के लिए टीकाकरण प्रमाण पत्र और आरटी-पीसीआर परीक्षण अनिवार्य भी किया है।

विशेष रूप से, हिमाचल प्रदेश के आंकड़ों से पता चलता है कि छुट्टियों के मौसम में, पर्यटन जनसंख्या में 40 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है।

संयुक्त राज्य अमेरिका के एक हालिया अध्ययन से पता चलता है कि लॉग जनसंख्या घनत्व की एक इकाई के आरओ (मूल प्रजनन संख्या/दर) में 0.16 की वृद्धि हुई है।

एक ओपिनियन पीस आधारित, बलराम भार्गव द्वारा मैथमेटिकल मॉडल पर, आईसीएमआर से समीरन पांडा, संदीप मंडल और इंपीरियल कॉलेज लंदन से निमालन अरीनामिनपथी ने कहा, ‘इसे ध्यान में रखते हुए, छुट्टियों के मौसम के दौरान तीसरी लहर की पीक 47 प्रतिशत तक बढ़ सकती है और लगभग दो हफ़्ते पहले आ सकती है। छुट्टियों की यात्रा की अनुपस्थिति में प्रतिबंधों को आसान बनाने के लिए।’

ये ओपिनियन पीस जर्नल ऑफ़ ट्रैवल मेडिसिन में प्रकाशित हुआ है। इसमें कहा गया है, “सामाजिक, राजनीतिक या धार्मिक कारणों से आने वाले पर्यटकों या सामूहिक सभाओं के कारण जनसंख्या घनत्व में अचानक वृद्धि तीसरी लहर के परिदृश्य को ख़राब कर सकती है।”

बता दें कि इस बीच, पिछले 24 घंटे में भारत में मंगलवार को 18,346 नए मामले दर्ज किए गए जो पिछले 209 दिनों में सबसे कम हैं। सक्रिय केसलोएड 2,52,902 रहा, जबकि रिकवरी रेट सुधरकर 97.93% हो गया है।

Translate »