Saturday, August 6, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

ग्रेनो प्राधिकरण का कोई कर्मचारी परेशान करे तो कॉल कर करें शिकायत, सीईओ सुरेन्द्र सिंह ने विजिलेंस सेल को किया अलर्ट

by Priya Pandey
0 comment

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की कार्यप्रणाली को अधिक पारदर्शिता बनाने के लिए सीईओ सुरेन्द्र सिंह विजिलेंस टीम को और अलर्ट पर रहने और सूचना मिलते ही जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। सीईओ ने कहा है कि प्राधिकरण का कोई भी अधिकारी या कर्मचारी किसी तरह की गड़बड़ी करता है या ग्रेटर नोएडा के किसी निवासी, आवंटी या फिर किसानों को निजी लाभ के लिए परेशान करता है तो इसकी शिकायत सतर्कता सेल में जरूर करें। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के विजिलेंस सेल के अधिकारियों के नाम, मोबाइल नंबर व ईमेल आईडी पहले ही जारी कर चुका है।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण एक तरफ तो डिजिटल तकनीक के सहारे प्राधिकरण के दफ्तर को फेस लेस बनाने की दिशा में काम कर रहा है तो दूसरी तरफ प्राधिकरणकर्मियों पर भी सतर्कता और बढ़ा दी है। सीईओ सुरेन्द्र सिंह ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सतर्कता सेल को और अलर्ट पर रहने को कहा है। किसी तरह की शिकायत मिलने पर तत्काल कार्रवाई के लिए कहा है। एसीईओ अमनदीप डुली इस सतर्कता सेल के मुख्य सतर्कता अधिकारी हैं। उनके साथ ही तीन और अधिकारियों को बतौर सतर्कता अधिकारी (विजिलेंस ऑफिसर) भी तैनात किए गए हैं। मुख्य सतर्कता अधिकारी का ईमेल आईडी cvo@gnida.in और मोबाइल नंबर-7755867799 है। एसीईओ के अलावा वरिष्ठ प्रबंधक अनिल कुमार जौहरी, उप विधि अधिकारी रश्मि सिंह और वरिष्ठ प्रबंधक गुरविंदर सिंह को सतर्कता अधिकारी बनाया गया है। अनिल जौहरी का ईमेल आईडी smtech@gnida.in और मोबाइल नंबर 8076226584 है। रश्मि सिंह का ईमेल आईडी rashmialo@gnida.in और मोबाइल नंबर 9650666771 है और गुरविंदर सिंह का ईमेल आईडी gurvindersingh@gnida.in व मोबाइल नंबर 9205691117 है। सीईओ सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि प्राधिकरण का कोई भी अधिकारी व कर्मचारी (स्थायी, अस्थायी, प्लेसमेंट या फिर आउटसोर्सिंग ) किसी भी आवंटी, किसान या फिर नागरिक को परेशान करता है तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। प्राधिकरण के एसीईओ व मुख्य सतर्कता अधिकारी अमनदीप डुली ने बताया कि कोई भी नागरिक प्राधिकरणकर्मियों से जुड़ी कोई शिकायत गोपनीय तरीके से करना चाहता है तो प्राधिकरण के कार्यदिवस में दोपहर 12 से दो बजे के बीच डिस्पैच सेंटर पर सील बंद लिफाफे में लिखित शिकायत कर सकता है। उसकी शिकायत पर तत्काल अमल किया जाएगा।

About Post Author