October 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

‘अगर ताइवान पर चीन का क़ब्ज़ा हुआ तो पूरे एशिया की शांति और लोकतंत्र पर होगा विनाशकारी प्रभाव’ – ताइवान की राष्ट्रपति

चीन के साथ लंबे समय से चल रहे अपने विवाद पर ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने कहा है कि अगर उनके देश पर चीन का कब्ज़ा होता है तो पूरे एशिया की शांति और लोकतंत्र पर विनाशकारी परिणाम होंगे।

 

Taiwan president Tsai Ing-wen/Reuters

 

फॉरेन अफ़ेयर्स पत्रिका में ताइवान राष्ट्रपति ने लिखा है कि ताइवान सैन्य टकराव नहीं चाहता, लेकिन अपनी रक्षा के लिए उसे जो कुछ भी करना पड़ेगा, वो करेगा।

उन्होंने ये लेख ऐसे समय में लिखा है जब लगातार ताइवान पर चीन का दबाव बढ़ता जा रहा है। बता दें कि चीन इस द्वीप को अपना हिस्सा मानता है।

पिछले चार दिनों में ताइवान के वायु रक्षा क्षेत्र में लगभग डेढ़ सौ चीनी फ़ाइटर जेट उड़ान भर चुके हैं।

इस संघर्ष के चलते अन्य देश भी चिंतित हैं। तोक्यो के एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी ने कहा कि उनके देश को उम्मीद है कि ये विवाद कूटनीति से सुलझ सकता है।

मोतेगी ने कहा, “हम आशा करते हैं कि दोनों पक्ष इस मामले को सीधी बातचीत के ज़रिए शांति से सुलझा लेंगे। यही हमेशा हमारी नीति रही है। हम इस घटनाक्रम पर कड़ी नज़र रखते रहेंगे। साथ ही हम क्षेत्र में पैदा होने वाले हालात पर अपने विकल्पों पर भी विचार करेंगे ताकि हम हर स्थिति के लिए तैयार रहें।”

दूसरी तरफ़ चीन इस तनाव के लिए अमेरिका और उसके सहयोगियों के युद्धपोतों को ज़िम्मेदार ठहरा रहा है।

Translate »