September 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

‘अगर हमने अभी स्कूल नहीं खोले तो एक पूरी पीढ़ी नॉलेज गैप के साथ आगे बढ़ेगी’ – मनीष सिसोदिया

देश कोरोना संक्रमण में आई कमीं के साथ ही कई राज्यों में स्कूल खोले जा रहे हैं। इस बीच दिल्ली सरकार ने आज से 9वीं से 12वीं तक के बच्चों के स्कूल खोल दिये हैं।

 

मनीष सिसोदिया/ANI

 

सरकार के इस फ़ैसले पर दिल्ली के उप मुख्‍यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, ‘अगर हमने अभी भी स्कूल नहीं खोले तो एक पूरी पीढ़ी नॉलेज गैप के साथ आगे बढ़ेगी। जब हमने जनता से सुझाव मांगे तो 70 फ़ीसद लोग शिद्दत के साथ चाहते थे कि हर कीमत पर स्कूल खोले जाएं।’

सिसोदिया ने ये भी बताया कि फ़िलहाल स्कूलों में कोर्स की पढ़ाई नहीं होगी बल्कि बच्चों से संवाद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मेडिकल एक्सपर्ट्स का सुझाव था कि अगर हम चाहें तो प्राइमरी स्कूल भी खोल सकते हैं लेकिन हमने ऐसा नहीं किया, सोचा पहले बड़ी क्लास के बच्चों की क्लास शुरू की जाए।

‘ज़्यादा जोखिम किसमें है?’

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि बाक़ी राज्यों में अबतक स्कूल खोलने का एक्सपीरियंस ओवरऑल ठीक है। उन्होंने कहा, ‘स्कूल खोलने का फैसला थोड़ा जोखिम भरा ज़रूर है लेकिन जोखिम किस तरफ़ है। पढ़ाई का नुकसान होने का जोखिम ज़्यादा बड़ा है या फिर जिस समय पूरी दिल्ली में केवल 25-30 कोरोना मामले सामने आ रहे हैं, उस समय स्कूल खोलना ज़्यादा जोखिम भरा है? पेरेंट्स बच्चों को एहतियात के बारे में पूरी तरह समझा कर भेजें, स्कूल में एहतियात बरते जाएंगे. स्कूल खोलने करने के लिए तैयारी करनी होती है, बंद तो आधे घंटे में हो जाता है। धीरे-धीरे बाकी क्लास को खोलने पर भी फ़ैसला लेंगे। अभी तक स्कूलों में बारिश की वजह से बच्चे कम आए हैं, पहले दिन वैसे भी कम आते हैं लेकिन दूसरे बच्चों को स्कूल आते हुए देखेंगे तो और बच्चे आएंगे।’

बता दें कि फ़िलहाल दिल्ली में कोरोना मामलों की संख्या बेहद कम है। रोज़ाना यहाँ 50 से भी कम नए संक्रमण के मामले दर्ज किए जा रहे हैं, जो शहर की आबादी के लिहाज़ से काफ़ी कम है।

इसके अलावा शहर में कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या भी अब 500 से नीचे आ गई है। राज्यों में कम होते कोरोना के मामलों के चलते केंद्र सरकार में उन्हें स्कूलों में टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टॉफ़ के वैक्सीनेशन के लिए ज़िला स्तर पर रोड मैप तैयार करने के लिए कहा है।

केंद्र सरकार ने कहा कि रोड मैप तैयार करने के लिए राज्य के शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग साथ मिलकर काम करें। ग़ौरतलब है कि देश में कोरोना के मद्देनज़र स्कूलों में सुरक्षा को लेकर केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने राज्यों के साथ बैठक की है।

You may have missed

Translate »