April 11, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

बंगाल में किसानों का केंद्र पर हल्ला बोल, क्या चुनाव पर पड़ेगा असर?

आज बंगाल में किसान संगठनों ने महापंचायत बिठाई जिसका सीधा उद्देश्य भाजपा को सत्ता से दूर रखने का रहा। इसके पहले चुनाव के लिहाज़ से बेहद ज़रूरी नंदीग्राम में आंदोलनरत ‘भारतीय किसान यूनियन’ के नेता राकेश टिकैत ने भाजपा पर हल्ला बोलते हुए कहा- “बंगाल के लोगों को संदेश है कि भारत सरकार ने देश को लूट लिया है उन्हें वोट नहीं करना..अपने बंगाल को बचाना। अगर कोई वोट मांगने आए तो उनसे पूछना कि हमारा MSP कब मिलेगा, धान की कीमत 1850 हो गई है वो कब मिलेगी?”
महापंचायत में बंगाल की जनता ने भारी संख्या में हिस्सा लिया। भीड़ को देखकर किसान आंदोलन की मज़बूती और प्रभाव का अंदाज़ा लगाया जा रहा है। ग़ौरतलब है कि किसानों का केंद्र सरकार के प्रति गुस्सा, पश्चिम बंगाल के चुनाव में भाजपा को नुक़सान पहुँचाने का कारण बन सकता है।
जहाँ एक ओर किसानों ने केंद्र को घेरने के लिए चुनावी राज्यों में महापंचायत कर लोगों से BJP को वोट न देने की ग़ुज़ारिश कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर अब संसद के बाहर मंडी लगाने का भी फ़ैसला लिया है। इसपर टिकैत ने कहा- “संयुक्त मोर्चा ने तय किया है कि एक नई मंडी संसद के सामने खोली जाएगी. ट्रैक्टर दिल्ली मे फिर से प्रवेश करेंगे. हमारे पास साढ़े 3 लाख ट्रैक्टर और 25 लाख किसान हैं. हमारा अगला टारगेट है कि फसल को संसद के बाहर बेचा जाएगा।
इन सबके बाद पश्चिम बंगाल चुनाव में अब क्या नया मोड़ आएगा, यह तो वक़्त ही बता सकता है।
Translate »